रोजाना धूप में बैठने के हैं कई फायदे, शरीर कई बीमारियों से रहता है दूर

रोजाना धूप में बैठने के हैं कई फायदे, शरीर कई बीमारियों से रहता है दूर

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग अपने काम के आगे अपनी सेहत का ध्यान नहीं रख पाते हैं। लोग अपने काम और अपनी जरूरतों को पूरा करने के लिए दिनभर ऑफिस या घरों में बैठे रहते हैं। अपने काम में बिजी रहने की वजह से लोग एक ऐसी चीज से दूर चले जाते हैं जो उनके शरीर के लिए बेहद फायदेमंद होती है। बता दें धूप हमारी बॉडी के लिए बेहद जरूरी है। 

ये भी पढे़ं- बरेली: थैलेसीमिया बीमारी है गंभीर, छह माह में खून चढ़ाना अनिवार्य

धूप से न केवल शरीर की हड्डियां मजबूत होती हैं बल्कि इसके कई फायदे हैं। आयुर्वेदिक एक्सपर्ट डॉक्टर दीक्षा भवसार ने बताया कि हर दिन 25 से 30 मिनट धूप में बैठना शरीर के लिए आवश्यक और पर्याप्त है। आइए धूप से मिलने वाले फायदों के बार में जानते हैं। 

तनाव कम होता है
हर दिन 20 से 25 मिनट धूप में बैठने से हमारे शरीर में मेलाटोनिन नामक हार्मोन का निर्माण होता है जो स्ट्रेस को कम करने में मदद करता है। 

नींद आती है अच्छी
कई रिपोर्ट में ये बात सामने आई है कि सुबह 20 से 25 मिनट की प्राकृतिक रोशनी बेहतर नींद लेने में मददगार है। धूप आपके सर्कैडियन रिदम को शरीर को ये बता कर नियंत्रित करती है कि आपके मेलाटोनिन के स्तर को कब बढ़ाना और कम करना है। व्यक्ति जितनी ज्यादा धूप लेता है सोने के समय शरीर में मेलाटोनिन का उत्पादन उतना बेहतर होता है। 

इम्यूनिटी स्ट्रांग होती है 
बता दें सूरज की रोशनी में रहने से इम्यूनिटी भी मजबूत होती है। अगर शरीर की इम्यूनिटी अच्छी होगी तो कई तरह की बीमारियों, संक्रमण, कुछ करके कैंसर के जोखिम को कम किया जा सकता है। 

सक्त संचार होता है अच्छा
हर दिन 20 से 25 मिनट धूप लेने से शरीर को गर्मी मिलती है। इससे ठंड के मौसम में सिकुड़ने वाली रक्त वाहिकाएं सामान्य हो जाती है और शरीर में रक्त संचार बेहतर हो जाता है। 

बता दें एक रिसर्च में ये बात सामने आई कि विटामिन डी की कमी से डिमेंशिया या मनोभ्रंश होने का जोखिम बढ़ जाता है। रिसर्च के अनुसार, जिन लोगों में विटामिन डी की अधिक कमी होने लगती है उन्हें डिमेंशिया होने की संभावना 122% अधिक होती है। भारत में धूप की कमी नहीं होती लेकिन, फिर भी 65 से 70% भारतीय लोगों में विटामिन डी की कमी पाई जाती है। 

साल में 40 दिन 40 मिनट की धूप जरुरी 
बता दें विटामिन डी की कमी से ह्रदय रोग, मेटाबॉलिक सिंड्रोम, प्रजनन क्षमता पर असर पड़ता है। हेल्थ एक्सपर्ट्स बताते हैं कि साल में कम से कम 40 दिन में 40 मिनट तक रोजाना सूरज की रोशनी में जरूर रहना चाहिए। सूरज का लाभ तभी शरीर को मिलता है जब कम से कम 40% हिस्सा सूरज की रोशनी में आए, भले ही आप सुबह की धूप लें या शाम के समय की

ये भी पढे़ं- सर्दियों में शरीर पर होती है खुजली तो करें ये काम... मिलेगा आराम

Post Comment

Comment List