बाजपुर: बिजली की मांग ज्यादा आपूर्ति बेहद कम, लोगों में आक्रोश

बाजपुर: बिजली की मांग ज्यादा आपूर्ति बेहद कम, लोगों में आक्रोश

बाजपुर, अमृत विचार। तराई में बिजली की भारी मांग और कम उपलब्धता के बीच बिजली की कटौती से जनता में रोष बढ़ता जा रहा है। सितंबर माह में भीषण गर्मी के चलते बिजली की मांग पांच करोड़ यूनिट से ऊपर पहुंच गई है। इधर कम उपलब्धता की वजह से यूपीसीएल ने ग्रामीण क्षेत्रों के साथ ही छोटे शहर-कस्बों में भी दो से पांच घंटे तक की कटौती शुरू कर दी है जिससे लोग भीषण गर्मी में रहने को मजबूर हैं।

विभागीय जानकारी के अनुसार प्रदेश में सितंबर माह में बिजली की मांग 5.3 करोड़ यूनिट रिकार्ड प्रदेश में पहली बार हुई है। इस वजह से जहां हरिद्वार-ऊधमसिंह नगर के ग्रामीण क्षेत्रों में करीब दो घंटे की कटौती सरकारी स्तर पर की गई, जबकि वास्तव में यह पांच घंटे तक की कटौती है।

वहीं छोटे कस्बों जसपुर, किच्छा, खटीमा, रामनगर, गदरपुर व बाजपुर में भी डेढ़ से दो घंटे कटौती सरकारी आदेश से की जा रही है, जबकि काशीपुर, सितारगंज, रुद्रपुर व हल्द्वानी में करीब एक घंटे की घोषित बिजली कटौती की गई। बताया जाता है कि व्यवसायी परियोजना से बिजली उत्पादन शुरू नहीं हो पाने के कारण निगम को करीब 25 लाख और केंद्रीय पूल से कम बिजली मिलने से भी करीब 20 लाख यूनिट की किल्लत हो रही है। मांग के अनुरूप उत्पादन नहीं होने के कारण आगे और दिक्कत आ सकती है।

ताजा समाचार

ओपी सिंह हत्याकांड: आरोपियों का हुआ सामाजिक बहिष्कार,गांव में घुसने पर पाबंदी, रोटी-बेटी का संबंध भी तोड़ने का फैसला 
Aligarh News | Aligarh Muslim University में बदमाशों ने Registrar के दो कर्मचारियों को गोली मारी।
हल्द्वानी: रेलवे की जमीन पर हुए अतिक्रमण मामले पर सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई
तो प्राधिकरण ने बिना सर्वे बना दिया 35 करोड़ का प्रोजेक्ट!..जलभराव झेल रहे हैं जलवानपुरा के बाशिंदे
Paris Olympics 2024 : भारतीय तीरंदाजों का लक्ष्य...ओलंपिक में पहला पदक जीतना 
Kanpur: फर्स्ट ईयर के छात्र समेत तीन ने जिंदगी से किया अलविदा...अपनों को फंदे पर लटका देख परिजनों की निकली चीख