रुद्रपुर: श्रद्धा और आस्था के साथ हुई गोवर्धन पूजा

रुद्रपुर: श्रद्धा और आस्था के साथ हुई गोवर्धन पूजा

रुद्रपुर, अमृत विचार। आस्था व श्रद्धा का पर्व गोवर्धन पूजा उत्साह और आस्था पूर्वक मनाया गया। इस दौरान मंदिरों में सुबह से ही श्रद्धालुओं ने गोवर्धन पर्वत की पूजा अर्चना की और 56 व्यंजनों का भोग लगाकर अपनी आस्था को प्रकट किया। जिससे वातावरण कृष्णमय हो गया। वहीं पूजा अर्चना के बाद विशाल भंडारे आयोजन हुआ। जिसमें हजारों श्रद्धालुओं ने प्रसाद ग्रहण किया।

मंगलवार की सुबह होते ही लोगों ने अपनी घरों की सफाई कर गोवर्धन पर्वत का स्वरूप बनाकर पूजन किया और उसके बाद नजदीक के मंदिरों में जाकर पूजा अर्चना की। इस दौरान शहर के लक्ष्मी नारायण मंदिर, शिव शक्ति मंदिर, बृहस्पति देव मंदिर, तुलसी धाम मंदिर के अलावा वार्डों में स्थित मंदिरों में श्रद्धालुओं ने 56 भोग का प्रसाद गोवर्धन पर्वत के समक्ष चढ़ाया और भक्ति भाव से आराधना की।

मान्यता है कि भगवान श्री कृष्ण के कहने पर ब्रजवासियों ने गोवर्धन की पूजा करनी शुरू कर दी थी। कारण जिस वक्त इंद्रदेव क्रोधित हुए और ब्रज में घनघोर वर्षा प्रारंभ करा दी। इसके बाद चारों ओर तबाही का मंजर हो गया। जिसे देखकर भगवान श्री कृष्ण ने ब्रजवासियों की रक्षा के लिए गोवर्धन पर्वत को अपनी छोटी उंगली पर उठा लिया और ब्रजवासियों की रक्षा। इस मौके पर सनातन धर्म सभा के सरपरस्त नंदलाल भुड्डी, अध्यक्ष महेश बब्बर, महामंत्री ओमप्रकाश अरोरा, तिलकराज घई, विजय जग्गा, शशि अरोरा समेत कई श्रद्धालु मौजूद रहे।

FOOTER:

ताजा समाचार

Kanpur News: कंकालों में लिखे मिले मेडिकल लिट्रेचर के शब्द...पोस्टमार्टम होने के बाद पुलिस भी हाथ खाली
Kanpur News: सात करोड़ की इकलौती हाइड्रोलिक मशीन नौ साल से फांक रही धूल...अब फिर होगी मरम्मत
अमेठी: पुलिसकर्मियों पर छेड़छाड़, अभद्रता का आरोप, एसपी ने पुलिस क्षेत्राधिकारी को सौंपी जांच
जहरखुरानी गिरोह का शिकार हुए थे लापता बैंक मैनेजर, रामपुर के अस्पताल में मिले भर्ती...इलाज के लिए दिल्ली ले गए परिजन
सीएम योगी ने खराब मौसम से सर्वाधिक प्रभावित नौ जिलों को जारी किए 23 करोड़ रुपए
हेमंत सोरेन की बढ़ी मुश्किलें, ED ने नोटिस की अवेहलना करने पर समन किया जारी
Online Jobs Apply