पीलीभीत: भैयादूज के दिन चली गई इकलौती बहन की जान, मचा कोहराम..जानिए मामला 

पीलीभीत: भैयादूज के दिन चली गई इकलौती बहन की जान, मचा कोहराम..जानिए मामला 

पीलीभीत/अमरिया, अमृत विचार। भैयादूज पर्व के दिन ननिहाल में मां और भाईयों संग रुकी पांच साल की मासूम की सड़क हादसे में जान चली गई। वह मां के साथ मकान से कुछ दूरी पर भैंस बांधने के लिए जा रही थी।

इसी बीच मिट्टी लदी ट्रैक्टर ट्रॉली ने उसे कुचल दिया।  पुलिस मामले में कार्रवाई में जुट गई है। हादसा अमरिया क्षेत्र में हुआ।  बरेली जनपद के गांव जगन्नाथ चठिया निवासी रज्जो देवी पत्नी वीरेंद्र दिवाली के मौके पर बच्चों संग अपने चाचा शिवराम के घर एक सप्ताह पूर्व अमरिया थाना क्षेत्र के ग्राम सरैनी तिरकुनिया में आई हुई थी।

इसके बाद से यहीं पर रुकी हुई थी। बुधवार सुबह वह पांच साल की बेटी गुंजन के साथ भैंस बांधने के लिए जा ही थी। मकान से कुछ दूरी पर सरैनी तिरकुनिया -तुमड़िया मार्ग पर सड़क पार कर रही थी। इस बीच मिट्टी लदी ट्रैक्टर ट्राली ने गुंजन को टक्कर मार दी।

जिसमें बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई। इसके बाद चालक ट्रैक्टर ट्रॉली छोड़कर भाग गया। ग्रामीणों की भीड़ जमा हुई और चीख पुकार मच गई। इसकी सूचना मिलने पर अमरिया पुलिस मौके पर पहुंची और जानकारी जुटाई।  

हादसे के बाद परिवार में चीख पुकार मची रही।  मृतक दो भाइयों में इकलौती बहन थी। उसके दो भाई नौ वर्षीय अंशू और आठ वर्षीय अंकुर हैं।  भैया दूज पर्व पर बिटिया की मौत के बाद परिवार में पर्व की खुशियां मातम में बदल गई।  सभी का रोकर बुरा हाल रहा।

यह भी पढ़ें;-प्रयागराज: युवक की पिकअप से कुचलकर हत्या, शराब के नशे में साथियों से हुआ था झगड़ा  

ताजा समाचार

Saudi Pro League : विवादों में फंसे क्रिस्टियानो रोनाल्डो, सऊदी लीग मैच में दर्शकों की तरफ किए आपत्तिजनक इशारे
शाहजहांपुर: महिला नेत्री के फोटो के साथ रील बनाना युवकों को पड़ा महंगा, पहुंचे हवालात
हल्द्वानी: पुलिस ने नगर निगम से पूछे छह सवाल... मांगे कंपनी बाग के दस्तावेज
फिरोजाबाद: गैंग बनाकर करते थे लूट, पुलिस से हुई मुठभेड़...तीन गिरफ्तार, एक फरार
Kanpur: 150 मिलियन राउंड सालाना उत्पादन के साथ अदाणी का रक्षा कारखाना शुरू...18 महीनों में हुआ पूरा, ये है प्लांट की खास बातें
हल्द्वानी: बनभूलपुरा दंगा - बमुश्किल मिला बाप, अब वांटेड बेटे मोईद की तलाश