यूपी कांग्रेस की नई प्रदेश कमेटी घोषित, कानपुर से सिर्फ छह को मिली जगह

यूपी कांग्रेस की नई प्रदेश कमेटी घोषित, कानपुर से सिर्फ छह को मिली जगह

कानपुर, अमृत विचार। अजय राय के पदभार ग्रहण करने के तीन माह बाद उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पदाधिकारियों की सूची घोषित कर दी गयी है। लोकसभा चुनाव 2024 के मद्देनजर जातीय संतुलन साधने की कोशिश की झलक इसमें मिलती है। जातीय जनगणना चुनावी मुद्दा होने के कारण कमेटी में करीब 17 फीसदी पिछड़ी जाति के पदाधिकारी हैं।

कमेटी में कुल 16 उपाध्यक्ष, 38 महासचिव और 76 सचिव नियुक्त किए गए हैं। इसमें कानपुर से सोहिल अंसारी, संजीव दरियाबादी (दोनों पूर्व विधायक) और शरद मिश्रा को उपाध्यक्ष बनाया गया है जबकि कनिष्क पांडेय, हरप्रकाश अग्निहोत्री और जेपी पाल को प्रदेश महामंत्री बनाया गया है। 

उपाध्यक्ष पद पर मुस्लिम अनुसूचित जाति और ब्राह्मण को तथा महामंत्री पद के लिए दो ब्राह्मण व एक पिछड़ी जाति के नेता को स्थान दिया गया है। कानपुर ब्राह्मण बहुल सीट होने के कारण यहां से तीन ब्राह्मणों को समायोजित किया गया है। खबर है कि तीन दिसंबर को पांच राज्यों का चुनावी रिजल्ट घोषित घोषित होने के बाद जिलाध्यक्ष भी बदले जा सकते हैं।

कानपुर का संगठन पहले जैसा बनाया जा सकता है। यानी उत्तर, दक्षिण, ग्रामीण को समाप्त करके कानपुर महानगर संगठन बनाया जा सकता है। ऐसी रिपोर्ट भी हाईकमान को पहुंचा दी गयी है। पदाधिकारियों की घोषणा कांग्रेस महासिचव (संगठन) केसी वेणुगोपालन ने की।

कानपुर से छह नेताओं को ही समायोजित किया गया है। इसमें युवक कांग्रेस अध्यक्ष कनिष्क पांडेय भी हैं। नया युवा अध्यक्ष तीन के बाद घोषित किया जा सकता है। कानपुर के पूर्व जिलाध्यक्ष हरप्रकाश अग्निहोत्री का समायोजन सामान्य कार्यकर्ता का सम्मान के रप में देखा जा रहा है। 

कांग्रेस का लोकसभा चुनाव की तैयारी में जी-जान से जुटी है। कांग्रेस ने 34 फीसदी पिछड़ों व 31 फीसदी सामान्य श्रेणी तथा 17 फीसदी अनुसूचितजाति को कमेटी में जगह दी है। यही नहीं 17 फीसदी अल्पसंख्यकों को जगह मिली है। कुल मिलाकर नए पदाधिकारियों में 67 फीसदी की उम्र 50 साल से नीचे है।

यह भी पढ़ें:-यूपी कांग्रेस कमेटी की नई कार्य समिति का हुआ एलान, देखें सूची

 

Online Jobs Apply