Bareilly News: गुप्तकालीन मूर्ति में नजर आता महिला सशक्तिकरण, 'मुकुटधारी नारी शीश' आकर्षण का केंद्र

Bareilly News: गुप्तकालीन मूर्ति में नजर आता महिला सशक्तिकरण, 'मुकुटधारी नारी शीश' आकर्षण का केंद्र

प्रीति कोहली, अमृत विचार। महात्मा ज्योतिबा फुले रुहेलखंड विश्वविद्यालय के प्राचीन इतिहास एवं संस्कृति विभाग के पांचाल संग्रहालय में विभिन्न ऐतिहासिक मूर्तियां, हथियार और टेराकोटा आदि की वस्तुएं सुसज्जित और संरक्षित हैं। 

सु

इस संग्रहालय में वैसे तो बहुत सारी अद्भुत और विलक्षण मूर्तियां हैं, लेकिन आज हम जिस मूर्ति के बारे में बताने जा रहे हैं वह बेहद अनमोल है। यह है "मुकुटधारी नारी शीश", जो गुप्तकाल का है। इस मूर्ति अवशेष को लोग संग्रहालय में देखने के लिए दूर-दूर से आते हैं। 

इस मूर्ति को लेकर पांचाल संग्रहालय के रिसर्च एसोसिएट डॉ. हेमंत मनीषी शुक्ला बताते हैं कि टेराकोटा गैलरी में पत्थर और टेराकोटा की मूर्तियों को प्रदर्शित किया गया है। इस गैलरी के पहले शोकेस में गुप्त काल की मुकुटधारी नारी शीश की मूर्ति है। अगर इस मूर्ति को बहुत ध्यान से देखेंगे तो नारी शीश से दोगुना बड़ा एक अलंकृत मुकुट है। जिसे गुप्तकाल के महिला शक्तिकरण के नजरिए से देखा जा रहा है। इसके साथ ही जो तस्वीर उभरकर आती है, उससे स्त्रियों के तत्कालीन समाज में वैभवशाली होना समझ आता है। 

मुककु

उन्होंने बताया कि मुकुटधारी नारी की मूर्ति बहुत ही विलक्षण है, निसंदेह ये किसी राज परिवार की महिला या किसी राजकुमारी के शीश को देखकर बनाई गई होगी। इसके मुकुट को ध्यान से देखेंगे तो यह बहुत ही अलंकृत नजर आएगा है। इस मुकुट में कई सारे कमल के फूल, शंख और फूल-पत्तियों के डिजाइन बने हुए हैं।

ये भी पढे़ं- Bareilly News: 2010 दंगे के दो आरोपी गिरफ्तार, मौलाना तौकीर रजा समेत दो के घर नोटिस चस्पा

 

 

ताजा समाचार

हल्द्वानी: सरकारी संस्थानों व स्कूलों के रिचार्ज पिट बढ़ाएंगे शहर का भूमिगत जलस्तर
12460 शिक्षक भर्ती: 27 से 29 जून तक होगा चयनित शिक्षकों को स्कूल का आवंटन
हरदोई: कुत्ते को बचाने के चक्कर में अनियंत्रित होकर नाले में गिरी एक्सयूवी कार, बाल-बाल बच कार सवार
Kanpur: नौकरानी व उसके प्रेमी ने डॉक्टर के घर से की थी 15 लाख की चोरी, सीसीटीवी फुटेज व सीडीआर से खुलासा, दोनों आरोपी गिरफ्तार
Kanpur Murder: हत्यारा पिता बोला- बेटा-बहू के तंत्र मंत्र कराने से हुई थी पत्नी की मौत...अब मुझे भी सता रहा था डर
AUS vs AFG : ऑस्ट्रेलिया पर बड़ी जीत के बाद बोले राशिद खान- पिछले दो वर्षों से हमें इस तरह के गौरवशाली पल की कमी खल रही थी