वियतनाम को पसंद आए कानपुर के ट्रॉली बैग; निर्यातक बोले- मजबूती और बेहतर डिजाइन की वजह से छीना चीन से बैग का ऑर्डर

वियतनाम को पसंद आए कानपुर के ट्रॉली बैग; निर्यातक बोले- मजबूती और बेहतर डिजाइन की वजह से छीना चीन से बैग का ऑर्डर

कानपुर, अमृत विचार। शहर में बने लेदर ट्रॉली बैग को अब वियतनाम का नया बाजार मिल गया है। शहर के निर्यातक को वियतनाम से 1600 ट्रॉली बैग का ऑर्डर मिला है। ऑर्डर के मुकाबले फाइनल सैंपल भेज दिया गया है। कारोबारियों की मानें तो माल एक साल तक सप्लाई होगा। ग्रेटर नोएडा में यूपी इंटरनेशनल ट्रेड शो के दौरान दोनों देशों के कारोबारी एक- दूसरे के संपर्क में आए थे।

शहर से वियतनाम जाने वाले ट्रॉली बैग की खासियत यह है कि यह पूरी तरह से हाथ के बने हुए हैं। इस बैग पर सिलाई भी हाथ से ही की गई है। चमड़े की कटिंग के अलावा बैग में डिजाइन भी हाथ के कारीगरों की ओर से ही की गई है। निर्यातकों ने बताया कि बैग की मजबूती और डोरे से हाथ की सिलाई की वजह से यह ऑर्डर उन लोगों ने चीन की कंपनी से छीना है। निर्यात ऑर्डर पर सना इंटरनेशनल एक्जिम के निदेशक डॉ. जफर नफीस ने बताया कि इस ऑर्डर के मिलने के बाद वियतनाम के लिए शहर के छोटे निर्यातकों के रास्ते खुल गए हैं। 

उन्होंने बताया कि इससे पहले वियतनाम में शहर से लेदर के कई उत्पाद निर्यात होते थे। हाथ के बने लेदर ट्रॉली बैग जैसा उत्पाद पहली बार निर्यात किया जा रहा है। इसी तरह एचएन लेदर के निदेशक हसीमुद्दीन ने बताया कि हाथ के बने लेदर के उत्पादों की विदेश में मांग तेजी से बढ़ी है। शहर में हाथ के कारीगर हुनरमंद हैं। एक वजह यह भी है कि विदेश में लेदर ट्रॉली बैग जैसे उत्पाद भी हाथ के बने मांगे जा रहे हैं।   

यूपी इंटरनेशनल ट्रेड शो से हुई शुरुआत

निर्यातकों ने बताया कि वियतनाम की जिस कंपनी को शहर से बैग निर्यात किए जा रहे हैं, वह कंपनी ग्रेटर नोएडा में आयोजित यूपी इंटरनेशनल ट्रेड शो के जरिए संपर्क में आई थी। उस ट्रेड शो का ऑर्डर अब कारोबारियों को मिलने लगा है। कारोबारियों ने यह भी कहा कि इस तरह के इंटरनेशनल ट्रेड शो का प्रदेश में होना उन लोगों के लिए बेहतर साबित हो रहा है। इस तरह के और ट्रेड शो का होना बहुत जरूरी है।

कानपुर ने चीन को कर दिया पीछे

निर्यातकों ने बताया कि वियतनाम में ज्यादातर उत्पाद अभी तक चीन से ही जाते थे। चीन के उत्पादों का जल्द खराब हो जाने की वजह से वहां के कारोबारियों ने भारत का तेजी से रुख किया है। कम कीमत का ऑफर चीन ने इस ऑर्डर के लिए भी कोट किया था। इसके बावजूद मजबूती और बेहतर डिजाइन की वजह से चीन से यह ऑर्डर यहां के कारोबारियों ने छीन लिया।

यह भी पढ़ें- Kanpur: सात साल तक चला उम्र बढ़ाने का खेल; कर्मचारी के रिटायरमेंट से एक महीने पहले हुआ खुलासा, शिक्षा विभाग ने शुरू की जांच

ताजा समाचार

अयोध्या: 1600 किलो की गदा व 1100 किलो का धनुष-बाण रामलला को समर्पित
प्रतापगढ़: डिजिटल साइनेज बोर्ड बतायेगा आपदा से राहत और बचाव के तरीके, डीएम ने जनसुनवाई कक्ष में किया शुभारंभ
बहराइच: महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, सीओ ने फोरेंसिक टीम के साथ लिया जायजा
अंबेडकरनगर: प्रसव के दौरान जच्चा-बच्चा की मौत, चिकित्सक पर लापरवाही का आरोप लगा परिजनों और ग्रामीणों ने सड़क जाम
कासगंज: अलीगढ़ से चोरी हुए 42 Vivo कंपनी के मोबाइल सहित तीन गिरफ्तार  
एलन मस्क ने EVM की विश्वसनीयता पर फिर से छेड़ दी बहस, राहुल ने बताया ब्लैक बॉक्स...पूर्व मंत्री ने कही ये बात