हल्द्वानी: पत्रकारिता दिवस: बदलते दौर की पत्रकारिता में रहना होगा अपडेट...

हल्द्वानी: पत्रकारिता दिवस: बदलते दौर की पत्रकारिता में रहना होगा अपडेट...

हल्द्वानी, अमृत विचार। आज के इस दौर में तकनीकी के विस्तार के चलते हिन्दी पत्रकारिता का स्वरुप बदल चुका है। हिन्दी समाचार चैनल, समाचार पत्रों के साथ-साथ हिन्दी में समाचार वेबसाइट के कारण हिन्दी पत्रकारिता का दायरा बढ़ा है। हिन्दी पत्रकारिता को व्यवसायिक कलेवर में ढाला जा चुका है। कुछ इस तरह के तथ्यों को लेकर आज पत्रकारिता दिवस पर पत्रकारों के विचार सामने आए।

पत्रकारिता दिवस के मौके पर मीडिया सेंटर हल्द्वानी में श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के बैनर तले एक गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें शहर के तमाम पत्रकार शामिल हुए और पत्रकारिता के विभिन्न पहलुओं के अलावा बदलते ट्रेंड पर विचारों का आदान-प्रदान हुआ। वक्ताओं ने पत्रकारों के सामने आ रही समस्याओं और चुनौतियों को लेकर चर्चा कर इसके समाधान को लेकर रणनीति तय की। इसके साथ ही पत्रकारिता के सच्चे मायनों को प्रदर्शित कर आम जनता की आवाज को बुलंद करने का बीड़ा उठाने को तटस्थ रहने का आह्वान किया गया।

इस मौके पर यूनियन के जिलाध्यक्ष सर्वेंद्र बिष्ट, महानगर अध्यक्ष योगेश शर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष तारा चंद जोशी सहित जिला महामंत्री भूपेंद्र रावत, कोषाध्यक्ष हर्ष रावत, शेर अफगान, अंशुल डांगी, भावनाथ पंडित, समीर बिसारिया, दीप बिष्ट बाबा, नवनीत सिंह, अमित चौधरी, अंकित शाह, दीपक अधिकारी, विनोद कांडपाल, सरताज आलम, संजय प्रसाद विनोद यादव, रक्षित टंडन, वंदना आर्य, ऋषि कपूर, शरद पाण्डे, अरक़म सिद्दीकी, संजय पाठक, कुनाल अरोड़ा, श्रुति तिवारी सहित कई पत्रकार मौजूद रहे।

ताजा समाचार

बरेली: ट्रांसफार्मर में लगी आग से मचा हड़कंप, फायर ब्रिगेड की गाड़ी ने पाया काबू
अयोध्या: प्रोफेसर पति सहित सास और देवर के खिलाफ दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज, दो दिन पहले पत्नी का शव फंदे से लटकता मिला था
हिमाचल में कांस्टेबल के 1226 पदों पर भर्ती, उम्मीदवारों को आयु में एक वर्ष छूट 
Kanpur: हेड कांस्टेबल की मौत की वजह स्पष्ट नहीं, नाले में मिला था शव, बेटे ने लगाया हत्या का आरोप, पढ़ें पूरा मामला
AKTU में हुआ 120 करोड़ का हेर-फेर, जालसाजों का हुआ खुलासा 
बाराबंकी: अतिरिक्त मजिस्ट्रेट लिखे वाहन का चालक कर रहा वसूली, प्रधानों ने सीडीओ से मिल की सौंपा 14 सूत्रीय ज्ञापन