हल्द्वानी: अमृत विचार की खबर का हुआ असर – स्वामी राम अस्पताल में भ्रष्टाचार के कैंसर का होगा ‘इलाज’

हल्द्वानी, अमृत विचार। स्वामी राम कैंसर अस्पताल में गंभीर मरीजों को अस्पताल से ही निशुल्क दवाइयां मिलेंगी। उन्हें बाहर मेडिकल स्टोर से हजारों रुपये दवा पर नहीं खर्च करने होंगे। चिकित्सा शिक्षा निदेशक ने मरीजों से बाहर से दवा मंगाने के मामले में जांच के निर्देश दिए हैं। स्वामी राम कैंसर अस्पताल में निशुल्क दवाइयां …

हल्द्वानी, अमृत विचार। स्वामी राम कैंसर अस्पताल में गंभीर मरीजों को अस्पताल से ही निशुल्क दवाइयां मिलेंगी। उन्हें बाहर मेडिकल स्टोर से हजारों रुपये दवा पर नहीं खर्च करने होंगे। चिकित्सा शिक्षा निदेशक ने मरीजों से बाहर से दवा मंगाने के मामले में जांच के निर्देश दिए हैं।

स्वामी राम कैंसर अस्पताल में निशुल्क दवाइयां उपलब्ध होने के बावजूद मरीजों से बाहर से महंगी दवाइयां मंगवाने के मामले को आपके लोकप्रिय अमृत विचार समाचार पत्र ने 13 अगस्त के अंक प्रमुखता से प्रकाशित किया था।

इस खबर का संज्ञान लेते हुए चिकित्सा शिक्षा महानिदेशक डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने राजकीय मेडिकल कॉलेज प्राचार्य को जांच के आदेश दिए हैं। इसके अलावा 16 जुलाई को कॉलेज प्रशासन व कैंसर अस्पताल प्रबंधन की संयुक्त बैठक होगी। इसमें मरीजों को दवाइयां वितरण में चर्चा होगी।

दरअसल, कॉलेज प्रशासन ने सुशीला तिवारी अस्पताल की तरह कैंसर अस्पताल में भी मरीजों को निशुल्क दवाइयां उपलब्ध कराने के लिए 30 से अधिक ब्रांडेड दवा के कंपनियों से टेंडर कराया था। इसमें 30 कंपनियों का टेंडर फाइनल हुआ। कंपनियों से दवाइयों का स्टॉक मिलने के बाद कालेज प्रशासन ने इसे कैंसर अस्पताल प्रबंधन को सौंप दिया। ये दवाइयां आयुष्मान व बीपीएल मरीजों के साथ-साथ सभी मरीजों को दी जानी थी लेकिन अस्पताल प्रबंधन मरीजों को निशुल्क दवा न देकर बाहर से कुछ चुनिंदा मेडिकल स्टोर से महंगी दवाइयां मंगवा रहा था। इस मामले का चिकित्सा शिक्षा महानिदेशक डॉ. श्रीवास्तव ने संज्ञान लिया है। उन्होंने इस प्रकरण की जांच मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. अरुण जोशी को जांच सौंपी है। साथ ही 16 जुलाई को बैठक होगी। संभावना है कि इसके बाद मरीजों को निशुल्क दवाइयां मिलेंगी।

सरकारी अस्पतालों में आयुष्मान के अलावा अन्य मरीजों को जो सुविधाएं मिलती हैं, वह सभी सुविधाएं कैंसर इंस्टीट्यूट में आने वाले मरीजों को भी दी जाएंगी। इसके लिए राजकीय मेडिकल कॉलेज हल्द्वानी के प्राचार्य को निर्देश दिए गए हैं। यदि फिर भी लापरवाही हुई तो कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

-डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव, महानिदेशक चिकित्सा शिक्षा उत्तराखंड

एसटीएच की तरह कैंसर अस्पताल में भी मरीजों को निशुल्क दवाइयां दी जाएंगी। इसके लिए 16 जुलाई को बैठक बुलाई गई है। कैंसर के मरीजों को निशुल्क दवाइयां मिले इसके लिए पूरे प्रयास किये जायेंगे। मामले की पारदर्शी ढंग से जांच की जाएगी।

-डॉ. अरुण जोशी, प्राचार्य, राजकीय मेडिकल कालेज, हल्द्वानी

 

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement