बरेली: जलमग्न भूमि को पाटकर रेजीडेंसी गार्डन बसाने की शिकायत, जांच शुरू

कलेक्ट्रेट, एसएसपी कार्यालय, जिला अस्पताल, सीआई पार्क, गांधी उद्यान में थीं मशीनें

बरेली: जलमग्न भूमि को पाटकर रेजीडेंसी गार्डन बसाने की शिकायत, जांच शुरू

बरेली, अमृत विचार।  बिहारमान नगला में बीडीए को हस्तांतरित सीलिंग की भूमि बेचने में फंसे सात बिल्डरों का मामला अभी ठंडा नहीं हुआ है। इस बीच जलमग्न भूमि को पाटकर स्टेडियम रोड स्थित रेजीडेंसी गार्डन बसाने का आरोप लगाया गया है। मामले की शिकायत मंडलायुक्त संयुक्ता समद्दार से शिकायत की गई है। आरोप है कि करोड़ों रुपये की भूमि को एक पूर्व मेयर और एक पूर्व नगर आयुक्त की मिलीभगत से पाटा गया। चर्चित बिल्डरों में से एक ने अवैध रूप से कालोनी बसा दी।

ये भी पढ़ें- बरेली: पासपोर्ट ऑफिस का सर्वर घंटों रहा डाउन, लोगों ने किया हंगामा

शिकायतकर्ता सपा नेता महेश पांडेय का आरोप है कि जलमग्न भूमि 1950 से पूर्व राजस्व अभिलेखों में 100 वर्षों से दर्ज है। अवैध निर्माण में सरकार को राजस्व का नुकसान पहुंचा है। निगम की भूमि पर कब्जा भी चला आ रहा है। शिकायत में गाटा संख्याओं के नाम भी दिए हैं, जो नगर निगम के रिकार्ड में दर्ज होना बताए गए हैं। मंडलायुक्त से भूमि का सत्यापन कराकर तत्काल कब्जा मुक्त कराने की मांग उठाई गई है।

मामले में मंडलायुक्त ने जिलाधिकारी को जांच कराने को कहा है। कमिश्नरी से मंडलायुक्त के हस्ताक्षर वाली चिट्ठी कलेक्ट्रेट पहुंची है। जिलाधिकारी ने जांच कराने के लिए चिट्ठी संबंधित अधिकारी को भेजी है। इसमें भी एलायंस बिल्डर्स से जुड़े एक बिल्डर पर गंभीर आरोप हैं। रेजीडेंसी गार्डन प्रकरण की जांच तेज होने के साथ जल्द कार्रवाई होने की चर्चा अभी से शुरू हो गई है।

ये भी पढ़ें- बरेली: पहले की अश्लील हरकत फिर गला घोटने का किया प्रयास, ससुरालियों पर रिपोर्ट दर्ज

Post Comment

Comment List