Kanpur: अमृत विचार की खबर का असर... सांसद और नगर आयुक्त ने आनंदेश्वर कॉरिडोर का किया निरीक्षण, घटिया काम पर भड़के

कानपुर में अमृत विचार की खबर का असर हुआ।

Kanpur: अमृत विचार की खबर का असर... सांसद और नगर आयुक्त ने आनंदेश्वर कॉरिडोर का किया निरीक्षण, घटिया काम पर भड़के

कानपुर में अमृत विचार की खबर का असर हुआ। सांसद सत्यदेव पचौरी और नगर आयुक्त ने कार्यों का निरीक्षण किया। आनंदेश्वर कॉरिडोर के घटिया काम पर कंपनी पर जुर्माना लगाया।

कानपुर, अमृत विचार। परमट स्थित आनंदेश्वर कॉरिडोर में घटिया सड़क बनाने पर ठेकेदार कंपनी पर नगर निगम आयुक्त ने दो लाख रुपये का जुर्माना लगा दिया। इसके साथ ही टूटी सड़क को 20 दिनों में सुधारने का समय दिया है। इसके बाद कंपनी को काली सूची में डाला जाएगा।

अमृत विचार ने कॉरिडोर में घटिया सड़क बनाने का खुलासा किया था। इस पर बुधवार को सांसद सत्यदेव पचौरी निरीक्षण करने पहुंचे और नगर निगम व स्मार्ट सिटी के अधिकारियों पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि यह कॉरिडोर सिर्फ निर्माण कार्य नहीं है, यह लाखों भक्तों की आस्था का केंद्र है। इसकी गुणवत्ता से कोई समझौता बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

अमृत विचार ने 25 नवंबर के अंक में आनंदेश्वर कॉरिडोर में घटिया सड़क बनाने का खुलासा किया था। कॉरिडोर में घटिया काम, डेडलाइन का उल्लंघन, काम में मनमानी आदि की पोल खोली थी। इस पर सांसद सत्यदेव पचौरी ने नाराजगी जताई थी। बुधवार को सांसद पचौरी, नगर आयुक्त शिवशरणप्पा जीएन, क्षेत्रीय पार्षद जितेन्द्र बाजपेयी, अपर नगर आयुक्त जगदीश यादव, नोडल अधिकारी स्मार्ट सिटी आरके सिंह और सहायक अभियन्ता स्मार्ट सिटी कमलेश पटेल के साथ दोपहर तीन बजे परमट स्थित निर्माणाधीन कॉरिडोर का निरीक्षण करने पहुंचे।

कॉरिडोर के प्रवेश द्वार से लेकर मन्दिर तक जगह-जगह सीसी सड़क पर दरारें मिलीं। इसके साथ ही थर्मोप्लास्ट एवं ज्वाइन्ट कई स्थानों पर उखड़े पाए गए। इस पर पचौरी भड़क गए। नाराज नगर आयुक्त ने सम्बन्धित फर्म श्रीराम इन्फ्रास्ट्राक्चर पर दो लाख रुपये का जुर्माना लगाते हुए कहा कि यदि 20 दिन के अन्दर समस्त कार्यों को मानक के अनुरूप पूरा कर स्मार्ट सिटी को नहीं सौंपा तो फर्म को काली सूची में डाल दिया जाएगा। 

चार पीआरडी जवान होंगे तैनात

परमट कॉरिडोर में पार्किंग स्थल का निरीक्षण के दौरान इंटरलॉकिंग का कार्य पूरा पाया गया। सांसद पचौरी ने कहा कि कॉरिडोर में पार्किंग स्थल काफी बड़ा बना है, इस पर लाइट की व्यवस्था की जाए और प्रवेश द्वार भी बनाया जाए। नगर आयुक्त ने अपर नगर आयुक्त द्वितीय को निर्देश दिया कि वाहनों को व्यवस्थित करने और अतिक्रमण को रोकने के लिए दो-दो पीआरडी जवानों को तैनात किया जाए। 

भंडारे के लिए बनेगा अलग स्थल

सांसद पचौरी ने निर्देश दिए कि सम्पवेल की बाउंड्री की ओर कॉरिडोर की सीमा में एल आकार में भंडारा स्थल भी विकसित किया जाए। जिससे पर्व के समय अलग-अलग स्थानों पर भंडारा न होकर एक ही स्थान पर हो। श्रद्धालुओं को इससे काफी सुविधा रहेगी। उन्होंने कहा कि इससे अनावश्यक जाम की स्थिति से भी छुटकारा मिलेगा। 

धीमी गति पर कंपनी को चेतावनी

परमट कॉरिडोर के प्रवेश द्वार से लेकर मन्दिर प्रवेश द्वार तक दीवार पर पत्थर लगाये जाने का कार्य धीमी गति से होता मिला। इसपर नगर आयुक्त ने निर्देश दिए कि 20 दिन के अन्दर दीवार पर पत्थर लगाने का कार्य पूरा किया जाए अन्यथा सम्बन्धित फर्म मेसर्स सीताराम इंटरप्राइजेज को भी काली सूची में डालने के लिए पत्रावली तैयार की जाए। 

आनन्देश्वर कॉरिडोर लाखों शिवभक्तों की आस्था का केंद्र है। इसकी गुणवत्ता से कोई समझौता बर्दाश्त नहीं होगा। मैंने खराब निर्माण को तोड़कर फिर से बनाने के साथ ही भारी वाहनों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए हैं।- सत्यदेव पचौरी, सांसद

ये भी पढ़ें- MBBS Student Death: रामा यूनिवर्सिटी में दहशत, 60 स्टूडेंट गए घर, हॉस्टल कैंपस में पसरा सन्नाटा, वारदात सुलझी नहीं

Online Jobs Apply