MBBS Student Death: रामा यूनिवर्सिटी में दहशत, 60 स्टूडेंट गए घर, हॉस्टल कैंपस में पसरा सन्नाटा, वारदात सुलझी नहीं

कानपुर के रामा यूनिवर्सिटी में छात्र की मौत से अन्य छात्र दहशत में है।

MBBS Student Death: रामा यूनिवर्सिटी में दहशत, 60 स्टूडेंट गए घर, हॉस्टल कैंपस में पसरा सन्नाटा, वारदात सुलझी नहीं

कानपुर के रामा यूनिवर्सिटी में छात्र की मौत से अन्य छात्र दहशत में है। 60 स्टूडेंट के घर जाने से हॉस्टल कैंपस में सन्नाटा पसरा। पुलिस ने वार्डन व गार्ड से पूछताछ की।

कानपुर, अमृत विचार। रामा यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस छात्र साहिल सारस्वत की मौत के मामले में छात्र-छात्राओं से पूछताछ और बेंजाडीन टेस्ट के बाद लगभग 60 छात्र-छात्राएं बुधवार को परिजनों के साथ घर चले गए। हॉस्टल में कुल 265 स्टूडेंट हैं। हालांकि छात्र-छात्राओं की पहले ही छुट्टी हो गई थी, लेकिन हादसे के कारण पुलिस ने छात्र-छात्राओं के घर जाने पर रोक लगा दी थी। उधर, बुधवार को हॉस्टल पहुंची बिठूर पुलिस ने हॉस्टल के गार्ड व वार्डन के बयान दर्ज किए, इसके साथ ही घटनास्थल का नक्शा बनाया । 

मूलरूप से मथुरा के पालीखेड़ा मनसा टीला निवासी बृजमोहन सारस्वत का बड़ा बेटा साहिल मंधना स्थित रामा मेडिकल यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस द्वितीय वर्ष का छात्र था। बीते शनिवार को साहिल ने जन्मदिन पर साथी छात्रों के लिए पार्टी का आयोजन किया था, जिसके बाद रविवार सुबह उसका शव हॉस्टल के बेसमेंट में मिला था।

यूनिवर्सिटी में छात्रों की छुट्टी होने के बाद भी घटना के कारण पुलिस ने छात्र-छात्राओं के घर जाने पर रोक लगा दी थी। मंगलवार को पुलिस पूछताछ व बेंजाडीन टेस्ट के बाद पुलिस ने छात्र-छात्राओं को घर जाने की अनुमति दी। जिसके बाद घटना से सहमे 60 छात्र-छात्राएं बुधवार को परिजनों के साथ अपने घर को रवाना हो गए। अब सात दिसंबर को छात्र-छात्राओं की वापसी होगी।

वहीं पुलिस ने सीज किए हॉस्टल के सभी कमरों को खोल दिया है। जिसमे कमरा नंबर 124,125,127,154 शामिल है। छात्रों ने कमरा नंबर 154 में पार्टी की थी।

पुलिस ने साहिल का 127 नंबर कमरा सीज किया था, इसे भी खोल कर चाबी वार्डन को दी गई है, जिससे परिजनों के आने पर साहिल का सामान उन्हें सौंपा जा सके। बुधवार को बिठूर थाना प्रभारी अतुल कुमार सिंह ने हास्टल के सुरक्षा अधिकारी संतोष सिंह, वार्डेन रज्जन और गार्ड जय सिंह के बयान दर्ज किए। साथ ही घटनास्थल का नक्शा भी बनाया। पुलिस ने कैमरे के डीवीआर और टूटी हुई कपड़े फैलाने वाली रस्सी को सीज किया। 

पुलिस घटना को मान रही हादसा

पुलिस को जो सीसीटीवी कैमरे की फुटेज मिली है, उसमें साहिल की चहलकदमी दिखी, जिसमें वह टॉयलेट जाता दिखा, लेकिन इसके बाद वह कैमरे की हद से बाहर हो गया। पुलिस का मानना है साहिल मेन गेट की तरफ गया और तीन फीट की रेलिंग पर बैठ गया। संतुलन बिगड़ने पर वह बेसमेंट में जा गिरा। इस दौरान दूसरी मंजिल पर कपड़े फैलाने की रस्सी टूटी और बेसमेंट की 10 नंबर की सीढ़ी का किनारा सर पर लगा और लड़खड़ाते हुए बाईं ओर गिरा। उसके बाल और खाल के अंश भी सीढ़ी पर मिले। पोस्टमार्टम रिपोर्ट, फोरेंसिक रिपोर्ट और विशेषज्ञों की राय के बाद पुलिस इस मामले को अब हादसा मानकर आगे बढ़ रही है। 

नौ बजे के बाद कोई छात्र नहीं जा सकेगा बाहर

हादसे में छात्र साहिल की मौत के बाद रामा मेडिकल कालेज प्रबंधन के प्राचार्य ने सख्त आदेश जारी किया है। जिसके अनुसार लाइब्रेरी रात 10 बजे तक ही खुलेगी। पहले लाइब्रेरी पूरी रात खुली रहती थी। जिसकी वजह से छात्र लाइब्रेरी जाने की बात कहकर निकल जाते थे। अब कोई भी छात्र रात नौ बजे के बाद रामा परिसर से बाहर नहीं निकल पाएगा। 

मैनेजमेंट बेसमेंट पर डलवाएगा जाल 

छात्र साहिल की मौत के बाद जागे रामा यूनिर्वसिटी मैनेजमेंट ने बेसमेंट की पहली मंजिल पर लोहे का जाल लगवाने का फैसला किया है। जिससे भविष्य में कोई छात्र हादसे का शिकार न हो सके। बुधवार को जाल डलवाने के लिए फैब्रीकेटर ने नापजोख भी की। छुट्टी पर परिजनों के साथ घर गए छात्रों के वापस लौटने तक उस पर जाल डलवा दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें- Banda: मुठभेड़ में लूट के आरोपी के पैर में लगी गोली… पुलिस ने किया गिरफ्तार, ठेकेदार को गोली मारकर लूटे थे रुपये

Online Jobs Apply