बरेली: मौलाना तौकीर के भड़काऊ बयान से ही 2010 और 2012 में हुआ था दंगा

बरेली: मौलाना तौकीर के भड़काऊ बयान से ही 2010 और 2012 में हुआ था दंगा

बरेली, अमृत विचार : मौलाना तौकीर के भड़काऊ बयान ही बरेली में साल 2010 और 2012 में दंगा हुआ था। उस दौरान जिले का माहौल बिगाड़ने के लिए कोर्ट ने उन्हें जेल भेजा था। अब वह फिर उसी तरह का माहौल बिगाड़ने की कोशिश अपनी भड़काऊ बयानबाजी से कर रहे हैं। यह आरोप भाजपा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष राजेश अग्रवाल ने तौकीर रजा पर लगाए हैं।

उन्होंने कहा कि यदि कहीं का माहौल खराब करवाना हो तो वहां मौलाना तौकीर को भेज दिया जाए। वह अपने बातें मीठे-मीठे शब्दों में कहकर माहौल खराब कर देंगे। उन्होंने कहा कि बदअमनी और नफरत शब्द का प्रयोग करते हुए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को अपमानित किया है, यह उचित नहीं है।

9feb5_180

उन्होंने चेताते हुए कहा कि हर क्रिया की प्रतिक्रिया होती है। कहा कि बहुसंख्यक समाज गंगा-जमुनी संस्कृति का पालन करता है, लेकिन तौकीर रजा क्यों भड़काने वाली बात करते हैं यह समझ से परे है। वह उत्तराखंड की बात को भी बरेली तक फैलाना चाहते हैं। उन्होंने बरेलीवासियों से अफवाह पर ध्यान नहीं देने की अपील की है।

ये भी पढ़ें - बरेली: सुबह से बढ़ीं धड़कनें... शाम तक सहमा रहा शहर, पूरे जिले से पहुंचे लोग, भीड़ ने लगाए मोदी-योगी मुर्दाबाद के नारे

ताजा समाचार

बहराइच: लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को स्कूल में प्रवेश करने से रोका, प्रधानाचार्य ने जारी किया तुगलकी फरमान
'OTT मंचों पर प्रतिबंध लगाने के लिए सरकार के पास जाएं', याचिकाकर्ता से सुप्रीम कोर्ट ने कहा
मुरादाबाद: वोटिंग में बुजुर्गों और दिव्यांगों को न हो दिक्कत, पोलिंग बथों पर व्हीलचेयर की व्यवस्था
यूएई में रिकॉर्ड तोड़ बारिश, भारतीय दूतावास ने भारतीय नागरिकों को गैर-जरूरी यात्रा से बचने की दी सलाह 
विकसित राष्ट्र के लिए मोदी को फिर बनाएं प्रधानमंत्री: खब्बू तिवरी
हल्द्वानी: जनता जागरूक है... भ्रामक बातों, विज्ञापनों और भाषणों में नहीं आने वाली- कांग्रेस