बसंत पंचमी और वैलेंटाइन डे आज, आसमान में उड़ेगी और प्यार का संदेश देगी पतंग

बाजार में छाई रौनक पतंगे और गिफ्ट गैलरी की दुकान गुलजार, हार्ट शेप वाली पतंग की बढ़ी डिमांड, युवाओं की बनी पसंद

बसंत पंचमी और वैलेंटाइन डे आज, आसमान में उड़ेगी और प्यार का संदेश देगी पतंग

पीलीभीत,अमृत विचार। इस बार भी बसंती मौसम में मोहब्बत का रंग घुला है। बसंत की अदा वेलेंटाइन डे पर सबसे जुदा होंगी। क्योंकि इस बार बंसत पचंमी के साथ वेलेंटाइन डे का संयोग बना है। इसलिए प्यार की डोर थामकर पतंगों पर लिखे गए तमाम अफसाने नीले आसमान में उड़ते नजर आएंगे।

बसंत पंचमी के दिन आसमान में अलग-अलग अंदाज की पंतगों की धूम देखने को मिलेगी। इन पतंगों के जरिए लोग अपने प्यार का इजहार करेंगे। इसको लेकर बाजार रंग बिरंगी पतंगों के अलावा गुलाब की खुशबू से महक उठा है। जहां लोग खरीदारी करने के लिए उमड़ रहे हैं। बुधवार को सुबह से नीले गगन में प्यार की पतंगे उड़ती दिखाई देंगी।

58222fe9-8d69-40ad-b919-65a1d8f1d520

14 फरवरी को वैलेंटाइन -डे और बंसत पचंमी एक साथ मनाया जाएगा। इसको लेकर शहर का बाजार गुलजार हो उठा है। पतंग, गिफ्ट गैलरी और फूल कारोबारियों को अच्छे कारोबार की खास है। इसलिए दुकानों को सजाया गया है। बसंत पंचमी को लेकर शहर के कोतवाली रोड, पंजाबियान, फीलखाना, धुनो वाले चौराहा, सुनहरी मस्जिद, लाल रोड समेत कई जगह पतंगों की दुकानें सज गई हैं। वहीं दूसरी तरफ युवाओं ने भी इस पर्व को धूमधाम से मनाने की पूरी तैयारियां कर ली हैं। शहर के बाजारों में पतंगों की जोरदार बिक्री हो रही है। दुकानों पर सुबह से शाम तक पतंग व डोर लेने के लिए भीड़ देखने को मिली। शहर के ज्यादातर दुकानदार पतंग व डोर का सीजन लगाने में दिलचस्पी ले ही रहे हैं। 

साथ ही पतंगबाजी की जिले में अधिक डिमाड को देखते हुए ग्राहकों को लुभाने के लिए दुकानदार भी बढि़या से से बढि़या वैरायटी के पतंग व डोर ग्राहकों को बेच रहे हैं। पांच रुपये से 50 रुपये तक का पतंग और 150 से 1000 रुपये तक की डोर बाजार में मिल रही है।  इस बंसत पचंमी मोदी योगी के साथ हार्ट शेप वाली पतंगें भी आई है। जिन्हें बेहद पसंद कर रहे हैं। पतंग कारोबारी शान अली ने बताया कि बीते सालों में कई दिन पहले से पतंगों की खरीदारी शुरु हो जाती थी। मगर इस बार एक दिन पहले ही पतंग खरीदारी ने जोर पकड़ा है। आसमान में बादल भी छा रहे हैं। जिसको लेकर पतंगबाजों की धड़कनें बढ़ी हुई है।

5d662a9d-bbc1-4041-80cd-e8233a7181d3

फूलों से गुलजार हुआ बाजार
वेलेंटाइन-डे को लेकर फूल बाजार गुलजार हो उठा है। बाजार में इन दिनों रंग बिरंगे फूलों की रौनक देखते ही बन रही है। बाजार में 20 रुपये लेकर हजारों रुपये तक के फूलों के गुलदस्ते उपलब्ध हैं। एक दिन पहले फूल वालों से लेकर गैलरियों में चहल पहल शुरू हो गई। शहर के बाजारों मार्केट में रौनक देखते ही बन रही थी। वहां पर पांच रुपये से लेकर पांच हजार रुपये तक के फूलों के बुके हैं। साथ ही युवाओं में  इमोजी के साथ टेडी की मांग ज्यादा है। फूलों के बुके के अलावा आकर्षक गिफ्ट आइटम भी खूब पसंद किए जा रहे हैं। पहले फूलों की दुकानों में इक्का दुक्का लोग ही पहुंचते थे, लेकिन वेलेंटाइन वीक होने के कारण इन दिनों फूलों की खूब बिक्री हो रही है। फूल कारोबारी मनोज सैनी ने बताया कि इन दिनों गुलाब की डिमांड अधिक रहती है।  इस बार गुलाब की कली 30 रुपये से लेकर 150 रुपये तक बिक रही है। साथ ही बुके भी बिक रहे हैं।

गिफ्ट गैलरी भी तैयार, फोटो फ्रेम -हार्ट शेप की डिमांड
वेलेंटाइन डे पर जहां गुलाब के फूल और बुके की डिमांड रहती है। तो वहीं गिफ्ट गैलरी भी इससे पीछे नहीं है। वेलेंटाइन डे को लेकर शहर की गिफ्ट गैलरी  में विभिन्न प्रकार के युवाओं को आकृषित करने वाले गिफ्ट आए हुए हैं। जिन्हें युवा पसंद कर रहे हैं। गिफ्ट गैलरी में वैलेंटाइन डे के लिए टेडी बीयर, कपल झूला, ताजमहल, फोटो फ्रेम, कटआउट फोटो फ्रेम के अलावा इस बार हार्ट शेप में बने हुए छोटे-छोटे तकियों से दुकानें सजी हुई हैं। साथ ही कई प्रकार के ग्रीटिंग, फुल, गुलदस्ते, घड़ियां आदि की मांग भी है।

3830f71a-f550-4d66-8af2-980a52522b43

दुकानदार शानतम शर्मा ने बताया कि टैडी 60-1500 रुपये, इमोजी सौ रुपये, दिल 70 -100 रुपये, कपल लाइटिंग-50-800 रुपये, कटआउट फ्रेम की डिमांड भी अधिक  हैं। लोगों ने इसके  लिए कई दिन पहले ही ऑर्डर कर दिए थे। जिनको पूरा किया जा रहा है। वेलेंटाइन डे पर अच्छा कारोबार होने की उम्मीद है।

14 फरवरी पर शादी सीजन, बरात घर भी फुल
 बसंत पचंमी और वेलेंटाइन डे पर विशेष संयोग तो बना ही। जिले में शादियों की भरमार भी है। 14 फरवरी पर अधिकतर होटल, बरातघर आदि बुक हैं। अधिकतर जगह शहनाई भी गूंजेगी। जिस वजह से बरातघर और बैंड, कैटर्स, टेंट आदि वाले बुक हैं। महंत आशुतोष शर्मा ने बताया कि इस दिन अच्छा संजोग बन रहा है। जो विवाह के योग्य है।

ये भी पढ़ें- पीलीभीत: 350 आरआरसी सेंटर बनाने में लाखों किए खर्च, अभी भी नहीं हो रहा इस्तेमाल 

ताजा समाचार