अटकलों का दौर तेज, MS Dhoni ने कहा, नए सत्र में नई भूमिका के लिए तैयार रहें

अटकलों का दौर तेज, MS Dhoni ने कहा, नए सत्र में नई भूमिका के लिए तैयार रहें

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) शुरू होने से महज दो हफ्ते पहले महेंद्र सिंह धोनी ने सोमवार को सोशल मीडिया पर वायरल पोस्ट डालकर अटकलों का दौर तेज कर दिया जिसमें उन्होंने दावा किया कि नये सत्र में नयी भूमिका उनका इंतजार कर रही है। चेन्नई सुपर किंग्स को अपनी कप्तानी में पिछले सत्र में पांचवां खिताब दिलाने वाले पूर्व भारतीय कप्तान ने हालांकि इस पोस्ट में न तो लीग का जिक्र किया और न ही नयी भूमिका के बारे में बताया जिससे हर कोई बस अनुमान ही लगा रहा है।

धोनी ने फेसबुक पर सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा, नये सत्र के लिए और नयी भूमिका के लिए इंतजार नहीं कर सकता। अटकलें लगायी जा रही हैं कि बतौर खिलाड़ी यह धोनी का अंतिम सत्र होगा। पिछले साल धोनी ज्यादातर सीएसके की पारी के अंत में बल्लेबाजी करने उतरे थे। उन्होंने अभी तक स्पष्ट नहीं किया है कि वह आईपीएल 2024 में टीम के कप्तान की भूमिका में होंगे या नहीं।

पिछले साल खिताब जीतने के बाद धोनी से जब पूछा गया कि वह संन्यास ले लेंगे तो रांची के इस खिलाड़ी ने कहा कि यह आसान रास्ता चुनने जैसा होगा। उन्होंने फिर कहा था कि अगर फिटनेस सही रही तो वह अगले सत्र में सीएसके के कप्तान के तौर पर वापसी की कोशिश करेंगे। वह हाल में जामनगर में अनंत अंबानी और राधिका मर्चेंट के शादी से पूर्व समारोह में दिखायी दिये थे। वह अभी तक चेन्नई में चल रहे सीएसके के ट्रेनिंग शिविर में नहीं पहुंचे हैं। 

ये भी पढ़ें :Kanpur: सीनियर पुरुष फुटबाल प्रतियोगिता के तीसरे दिन लखनऊ व झांसी का रहा शानदार प्रदर्शन; कानपुर देहात भी रही विजयी

ताजा समाचार

Kanpur: डंपर ने कार में मारी टक्कर...किन्नर समेत दो की मौत, एक अन्य घायल, हादसे के बाद चालक वाहन छोड़कर फरार
अयोध्या: लोकगीतों से तुलसी मंच बना आकर्षण का केंद्र, छाया है राम जन्मोत्सव का उल्लास 
दंतेवाड़ा में बोले राजनाथ सिंह, जब भी कांग्रेस सत्ता में आती है, भ्रष्टाचार बढ़ जाता है
सिडनी के मॉल में चाकूबाजी और फायरिंग में 5 लोगों की मौत, कई गंभीर रूप से घायल...हमलावर भी ढेर
समाजवादी पार्टी पर केशव मौर्य का बड़ा प्रहार, कहा-अखिलेश के तीन यार, आजम-अतीक और मुख्तार
आतंकवादी नियमों को नहीं मानते तो उन्हें जवाब देने का भी कोई नियम नहीं हो सकता: एस. जयशंकर