अयोध्या : पत्रकारों ने कहा गठित हो मीडिया काउंसिल

राष्ट्रीय प्रेस डे पर उप्र एसोसिएशन ऑफ जर्नलिस्ट्स के तत्वावधान में प्रेस क्लब में हुआ आयोजन

अयोध्या : पत्रकारों ने कहा गठित हो मीडिया काउंसिल

अमृत विचार, अयोध्या। उत्तर प्रदेश एसोसिएशन ऑफ जर्नलिस्ट्स के तत्वाधान में राष्ट्रीय प्रेस डे पर बुधवार को गोष्ठी का आयोजन प्रेस क्लब के सभागार में किया गया। इस अवसर पर मौजूद पत्रकारों द्वारा प्रेस काउंसलिंग की कार्यप्रणाली को ही कटघरे में खड़ा कर दिया। अध्यक्षता करते हुए संगठन के जिलाध्यक्ष नाथबख्श सिंह ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के कार्यरत न्यायमूर्ति की अध्यक्षता में मीडिया काउंसिल का गठन किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि  विभिन्न पत्रकार संगठनों, विभिन्न भाषाओं और विभिन्न पत्रकार विधाओं के संगठनों के लोगों को उसका सदस्य बनाया जाना चाहिए और मीडिया काउंसिल को पर्याप्त अधिकार मिलना चाहिए जिससे दोषी लोग दंडित हो सके। उन्होंने प्रेस काउंसिल के स्थान पर सरकार से मीडिया काउंसिल बनाने की मांग की। नेशनल यूनियन आफ जर्नलिस्ट्स के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष त्रियुगी नारायण तिवारी ने कहा कि प्रेस काउंसिल का अब कोई मतलब नहीं रह गया है और पत्रकारों को प्रेस काउंसिल से किसी प्रकार का लाभ नहीं है उन्होंने भी मांग की कि मीडिया काउंसिल का गठन किया जाना चाहिए जिसमें सभी प्रकार के पत्रकार विधाओं का समायोजन हो सके।

पत्रकार रवि प्रकाश पाठक ने कहा कि 6 जुलाई 1966 को प्रेस काउंसिल का गठन हुआ और 16 नवंबर को 1966 को इसे लागू कर दिया गया जो अब तक चल रहा है। उन्होंने कहा कि प्रेस काउंसिल दंत विहीन संस्था बनकर रह गई है। यह उसका 56वां साल है परंतु कहीं कुछ भी प्रेस काउंसिल का दिखा नहीं। गोष्ठी में कृष्ण मुरारी सिंह, त्रिलोकीनाथ द्विवेदी, राम धीरज पांडेय, धीरेंद्र प्रताप सिंह ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

Post Comment

Comment List