बरेली: पांच साल से संघर्ष...दुश्मनों के दांत खट्टे करने वाले मुन्नालाल को नहीं मिली भूमि पट्टा

चीन और पाकिस्तान से हुए युद्धों में भी सक्रिय भूमिका निभाई

बरेली: पांच साल से संघर्ष...दुश्मनों के दांत खट्टे करने वाले मुन्नालाल को नहीं मिली भूमि पट्टा

बरेली, अमृत विचार। युद्धों में दुश्मनों के दांत खट्टे करने वाले पूर्व सैनिक मुन्नालाल भूमि का एक टुकड़ा आवंटित कराने के लिए सिस्टम से संघर्ष कर रहे हैं। उन्होंने 1963 से लेकर 1973 के बीच चीन और पाकिस्तान से हुए कई युद्ध लड़े थे। 2018 से उनका प्रार्थना पत्र सरकारी दफ्तरों में घूम रहा है। कई बार जिलाधिकारियों से फरियाद की लेकिन भूमि का पट्टा आज तक आवंटित नहीं हुआ। हर बार उन्हें जिम्मेदारों से निराशा ही मिली।

बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिला सैनिक बंधु की बैठक में मुन्नालाल के बेटे दशरथ सिंह ने डीएम के समक्ष भूमि का पट्टा आवंटन कराने की मांग उठाई। साथ ही उन्हें पत्र भी सौंपा। मुन्नालाल नवदिया के ग्रास मंडी में रहते हैं। वह अब चल नहीं पाते हैं। बेटे दशरथ सिंह के साथ पेंशन संबंधी काम के लिए कभी-कभी पूर्व सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास केंद्र तक जाते हैं। बेटा ही मुन्नालाल की ओर से लिखे गए प्रार्थना पत्रों को प्रशासनिक अफसरों तक पहुंचाता है। दशरथ सिंह द्वारा डीएम को सौंपे प्रार्थनापत्र में मुन्नालाल ने लिखा है कि वह पूर्व सैनिक हैं और वर्ष 1963 में चीन और पाकिस्तान से हुए युद्ध में सक्रिय भूमिका निभाई थी। 1979 में वह 150 रुपये प्रति माह पेंशन पर सेवानिवृत्त हुए थे। 

2018 से लगातार पट्टा कराने के लिए प्रार्थना पत्र दे रहे हैं, मगर अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई है। पिछली बैठक में भी प्रार्थनापत्र दिया था। जिस पर क्षेत्र के लेखपाल ने आख्या भी दी थी। इस बीच लेखपाल कानूनगो के पद पर प्रोन्नत होकर आंवला चले गए। वह आदेश और नोटिंग वाला प्रार्थनापत्र भी कहीं गुम हो गया। ग्राम शेखापुर, तहसील फरीदपुर में बंजर भूमि पर पट्टा आवंटित होने के संबंध में जांच भी पूरी हो गई थी। डीएम से कृषि भूमि का पट्टा आवंटित कराने की मांग की।

ये भी पढ़ें- बरेली: एलायंस बिल्डर्स के निदेशकों की करोड़ों की संपत्तियां जल्द होंगी जब्त

ताजा समाचार

पीलीभीत: जांच टीम के सामने ग्रामीण की पिटाई, प्रधान पति समेत पांच पर FIR
 बाजार से खरीदारी करने निकली छात्रा लापता, प्रेमी पर अपहरण का आरोप
बाराबंकी में पेट्रोल पंप पर नक्शे के विपरीत हो रहा भूमिगत टैंक का निर्माण, ऑयल कंपनी से मांगा जवाब
Kannauj: बकाये में कटी छिबरामऊ कृषि विभाग कार्यालय की बिजली; पांच दिन से मृदा परीक्षण का काम ठप, गर्मी से बेहाल कर्मचारी
हल्द्वानी: पत्रकारिता दिवस: बदलते दौर की पत्रकारिता में रहना होगा अपडेट...
कासगंज: भारत विकास परिषद की बैठक में प्रांतीय पदाधिकारियों का किया गया अभिनंदन, स्थाई प्रकल्पों पर की गई चर्चा