लखीमपुर-खीरी: वकीलों ने कचहरी में सरकार तो मितौली में मुख्यमंत्री का फूंका पुतला, जानिए मामला

पुलिस और सरकार के विरोध में की जमकर नारेबाजी

लखीमपुर-खीरी: वकीलों ने कचहरी में सरकार तो मितौली में मुख्यमंत्री का फूंका पुतला, जानिए मामला

लखीमपुर-खीरी, अमृत विचार। हापुड़ कांड को लेकर दिन प्रतिदिन वकीलों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। मुख्यमंत्री का पुतला फूंक जाने की सुगबुगाहट होते ही गुरुवार की सुबह से ही कचहरी परिसर में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया था। जिला अधिवक्ता संघ के नेतृत्व में गुरुवार को भी वकीलों ने कार्य बहिष्कार जारी रखा और प्रदर्शन कर कचहरी परिसर में प्रदेश सरकार का पुतला फूंका। वहीं मितौली में मुख्यमंत्री का पुतला फूंक कर वकीलों ने जमकर नारेबाजी की। मुख्यमंत्री के पुतला फूंके जाने से पुलिस के हाथपांव फूल गए।

बार कौंसिल के निर्देश पर जिला अधिवक्ता संघ सभागार में गुरुवार को सभी वकील एकत्र हुए, जहां पर अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष विनय कुमार सिंह की अध्यक्षता में एक बैठक हुई। बैठक में निर्णय लिया गया कि जब तक अधिवक्ताअों की मांगे पूरी नहीं होती हैं और हापुड़ लाठीचार्ज के दोषियों पर कार्रवाई नहीं होती है।

अधिवक्ता अदालती कामकाज नहीं करेंगे। बैठक को अधिवक्ता संघ के महामंत्र5ी मनोज कुमार जायसवाल, सरोज कुमार श्रीवास्तव आदि ने भी संबोधित किया। बैठक के बाद अधिवक्ताअों ने कचहरी परिसर में प्रदर्शन किया और उत्तर प्रदेश सरकार का पुतला जलाकर जमकर नारेबाजी की।

उधर प्रशासन को इनपुट मिले थे कि आक्रोषित अधिवक्ता मुख्यमंत्री का पुतला फूंक सकते हैं। इसके लेकर प्रशासन सर्तक हो गया था। सुबह से ही कचहरी परिसर में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया था। सीअो सिटी संदीप सिंह, प्रभारी निरीक्षक सदर चंद्रशेखर सिंह भारी पुलिस बल के साथ प्रदर्शन समाप्त होने तक जमे रहे।

यह भी पढ़ें- लखीमपुर खीरी: भारत-नेपाल सीमा पर पकड़ा गया डंप कर रखा गया लाखों का कपड़ा 

Online Jobs Apply