प्रयागराज: यमदुतिया के मेले में उमड़ी लाखों की भीड़, भाई-बहन ने किया स्नान

प्रयागराज: यमदुतिया के मेले में उमड़ी लाखों की भीड़, भाई-बहन ने किया स्नान

प्रयागराज। संगम नगरी प्रयागराज के यमुनापार घूरपुर थाना क्षेत्र के प्राचीन सुजावान देव मंदिर और बलुआघाट पर हर वर्ष दीपावली के बाद लगने वाले विशाल मेले में भाई दूज पर लाखों की संख्या में लोगों ने स्नान किया। स्नान के बाद पूजा अर्चना कर बहनों ने भाइयों को टीका कर उनके दीर्घायु की कामना की। 

कार्तिक मास में पड़ने वाले यमदूतिया के मेले की अगर बात करें तो दीपावली के बाद भाई दूज पर यह पर्व मनाया जाता है। यमुना नगर के घूरपुर के पास सुजावन देव मंदिर में यह विशाल मेला हर वर्ष लगता है। इसी प्रकार् कार्तिक मास में एक माह के लिए बलुआघाट में कार्तिक का मेला भी लगता है।

Untitled-14 copy

जहां भाई दूज पर बहन और भाई एक साथ स्नान करते है। स्नान के बाद बहनें गोवर्धन की पूजा कर भाइयों को टीका कर उनके दीर्घायु होने की कामना करती है। मान्यता है कि यमराज इस स्थान पर आए थे और यमुना जी के आदर सत्कार से खुश होकर उन्होंने वरदान मांगने को कहा तो यमुना मां ने वरदान मांगा कि मेरे तट पर आकर जो भी व्यक्ति जल स्पर्श एवं उपासना अपनी बहन के साथ करेगा उसे मृत्यु का भय नहीं रहेगा और उसे मोक्ष की प्राप्ति होगी।

ऐसी मान्यता है कि सुजावन देव मंदिर यमुना नदी बीच में बनी है। यहां भाई- बहन के एक साथ स्नान करने से पुण्य का लाभ मिलता है और तब से यहां पर यम द्वितीया का मेला लगने लगा, तथा इस मेले में प्रयागराज सहित मध्य प्रदेश व आसपास के जनपदों से भी लोग मेले में खरीदारी तथा बिक्री करने के लिए आते हैं। 

कहा तो ये भी जाता कि प्रयागराज के माघ मेले के बाद यह प्रदेश का सबसे बड़ा धार्मिक मेला होता है, इस बार मेले में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं डीसीपी यमुनानगर तथा एसीपी के नेतृत्व में पुलिस की कई टीमों की तैनाती की गई है तथा थाना प्रभारी संजीव चौबे व मुठ्ठीगंज थाना प्रभारी सुनील बाजपेयी बलुआघाट मेले में पुलिस टीम के साथ लगातार क्षेत्र में भ्रमण कर रहे।

यह भी पढ़ें; हरदोई: माथे पर टीका लगवाकर भाइयों ने मनाया 'भइयादूज' का त्यौहार, बहनों को मिला गिफ्ट

Online Jobs Apply