मथुरा: सपा नेता मौर्य मानसिक रूप से बीमार प्रतीत होते हैं, जांच की जरूरत- लक्ष्मी नारायण चौधरी 

मथुरा: सपा नेता मौर्य मानसिक रूप से बीमार प्रतीत होते हैं, जांच की जरूरत- लक्ष्मी नारायण चौधरी 

मथुरा। यूपी के गन्ना विकास एवं चीनी उद्योग मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने देवी लक्ष्मी पर समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता स्वामी प्रसाद मौर्य के हालिया बयान पर कटाक्ष करते हुए कहा कि सपा नेता विक्षिप्त (मानसिक रूप से बीमार) प्रतीत होते हैं,और उन्हें मानसिक जांच की जरूरत है। चौधरी ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव को पार्टी के वरिष्ठ नेता (मौर्य) की आगरा या बरेली में जांच कराने की भी सलाह दी।

मंगलवार को यहां पत्रकारों से बात करते हुए, चौधरी ने कहा, "चूंकि सपा नेता (स्पष्ट रूप से स्वामी प्रसाद मौर्य की ओर इशारा करते हुए) 'विक्षिप्त' (मानसिक रूप से बीमार) प्रतीत होते हैं और उन्हें मानसिक जांच की आवश्यकता है, इसलिए यह (मेरी) सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को सलाह है कि मौर्य की जांच बरेली या आगरा में कराई जाए।”

उप्र के कैबिनेट मंत्री ने यह भी कहा कि कभी-कभी परिस्थितियों के कारण व्यक्ति 'विक्षिप्त' (मानसिक रूप से बीमार) हो जाता है। चौधरी का बयान इसलिए महत्वपूर्ण है क्योंकि उन्होंने स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ मिलकर लोकदल और फिर बहुजन समाज पार्टी सरकार (2007 से 2012) में काम किया था।

उन्होंने यह भी कहा कि पांच राज्यों में चुनाव प्रक्रिया पूरी होने के बाद भाजपा राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में सरकार बनाएगी । उन्होंने कहा, "मोदी लहर के कारण राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ में चुनाव के नतीजे भाजपा के पक्ष में होंगे।"

हाल ही में स्वामी प्रसाद मौर्य ने सवाल उठाया था कि देवी लक्ष्मी के चार हाथ कैसे हो सकते हैं, जिससे विवाद खड़ा हो गया था। सपा नेता इससे पहले रामचरितमानस और बद्रीनाथ मंदिर पर अपनी विवादास्पद टिप्पणियों से सुर्खियों में आए थे। मौर्य ने रविवार को ‘एक्स’ (पूर्व में ट्विटर) पर एक पोस्ट में कहा था कि उन्होंने दिवाली पर अपनी पत्नी की पूजा की क्योंकि वह सही मायने में एक देवी हैं। 

ये भी पढ़ें- मीराबाई जयंती में भाग लेने 23 नवंबर को मथुरा आएंगे पीएम मोदी

Online Jobs Apply