Kanpur: ग्राम प्रधान ने साथियों के साथ मिलकर पीटा, पूर्व ज्येष ब्लॉक प्रमुख की इलाज के दौरान मौत, परिजनों ने किया हंगामा

कानपुर में पूर्व ज्येष ब्लॉक प्रमुख की इलाज के दौरान मौत के बाद थाने गेट पर जमकर हंगामा।

Kanpur: ग्राम प्रधान ने साथियों के साथ मिलकर पीटा, पूर्व ज्येष ब्लॉक प्रमुख की इलाज के दौरान मौत, परिजनों ने किया हंगामा

कानपुर के शिवराजपुर में ग्राम प्रधान ने पूर्व ज्येष ब्लॉक प्रमुख की जमकर पिटाई कर दी थी। जहां पूर्व ज्येष ब्लॉक प्रमुख की इलाज के दौरान मौत हो गई। घटना से नाराज परिजनों ने शिवराजपुर थाने के सामने शव रखकर हंगामा किया।

कानपुर, अमृत विचार। शिवराजपुर थानाक्षेत्र में मंगलवार शाम जरूरी काम निपटाकर घर जा रहे पूर्व ज्येष ब्लॉक प्रमुख और पूर्व प्रधान पति विजय प्रताप सिंह उर्फ पप्पू पर चुनावी रंजिश के चलते वर्तमान ग्राम प्रधान और उसके भाई सहित अन्य साथियों ने शुक्लपुर गांव के पास घेर कर कुल्हाड़ी लाठी डंडों से जानलेवा हमला कर दिया था। इसके बाद आरोपी मरणासन्न हालत में छोड़कर मौके से फरार हो गए थे।

परिजनों ने उन्हें कानपुर के एक निजी अस्पताल में आईसीयू में भर्ती कराया था। जहां इलाज के दौरान शुक्रवार को मौत हो गई। घटना से गुस्साए परिजनों और ग्रामीणों ने शिवराजपुर थाने के बाहर शव रखकर जमकर हंगामा किया।

शिवराजपुर क्षेत्र के हरनू गांव में पंचायत चुनाव के बाद पूर्व प्रधान पति विजय प्रताप सिंह उर्फ पप्पू और वर्तमान प्रधान रंजीत यादव के बीच तनातनी चली आ रही थी।

जिसके चलते मंगलवार देर शाम प्रधान पति पप्पू यादव पास के ही गांव से जरूरी काम निपटाकर अपने गांव जा रहे थे, तभी शुक्लपुर गांव के पास ग्राम प्रधान रंजीत यादव और उसके भाई राजेश यादव पुत्र स्वर्गीय लालता प्रसाद निवासी सुखा निवादा साथी उनके साथी राजा यादव उर्फ अजीत यादव पुत्र भूरा यादव निवासी रमेल थाना बिठूर, निखिल यादव पुत्र राजू यादव निवासी बैकुंठपुर थाना बिठूर, सोनू यादव ने घेर कर र कुल्हाड़ी, लाठी, डंडों, लोहे की रोड और ईंटों से जानलेवा हमला कर दिया था।

आरोपी मरणासन्न हालत में छोड़कर मौके से फरार हो गए थे। इस पर परिजनों ने कानपुर के एक निजी अस्पताल में आईसीयू में भर्ती कराया था। जहां शुक्रवार सुबह उनकी मौत हो गई।

थाने का गेट बंद कर किया हंगामा

ग्राम प्रधान पति पप्पू यादव की मौत के बाद पोस्टमार्टम हाउस से दोपहर बाद शव लेकर गांव पहुंचे। इसके बाद ग्रामीणों ने कई ट्रैक्टर से भरकर शिवराजपुर थाने पहुंच कर जमकर हंगामा काटा। ग्रामीणों ने थाने का मुख्य गेट बंद कर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर हंगामा किया। इस बीच करीब एक घंटे तक कस्बे की रोड पर जाम लगा रहा।

ये भी पढ़ें- UP: साढू ही निकला घर का भेदी, साथियों के साथ मिलकर लूट की वारदात को दिया अंजाम, ऐसे फंसा पुलिस के शिकंजे में

Online Jobs Apply