Kanpur में बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पं. धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री बोले- जब दूसरे ग्रुप का ब्लड नहीं ले सकते तो भला धर्म कैसे लें

पहली बार कानपुर में बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पं. धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री आए।

Kanpur में बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पं. धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री बोले- जब दूसरे ग्रुप का ब्लड नहीं ले सकते तो भला धर्म कैसे लें

पहली बार कानपुर में बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पं. धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री आए। उनको सुनने के लिए भक्तों की भारी भीड़ उमड़ी।

कानपुर, अमृत विचार। शहर में शुक्रवार को पहली बार  बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पं. धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री आए तो उन्हें देखने और सुनने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। उन्होंने कहा कि जब हम दूसरे ग्रुप का ब्लड स्वीकार नहीं कर सकते, तो दूसरे धर्म को कैसे अपना सकते हैं। सब लोग एक होकर हिंदू राष्ट्र बनाने का संकल्प लो। रामचरितमानस को पाठ्यक्रम में शामिल किया जाना चाहिए, भारत में रामचरितमानस नहीं पढ़ी जाएगी, तो क्या पाकिस्तान में पढ़ी जाएगी। इसका विरोध करने वाले रावण के खानदान के हैं। 

पं. धीरेंद्र शास्त्री अशोक नगर में समाजसेवी सुनील शुक्ला के आवास पर पहुंचे तो उनकी कार को सैकड़ों लोगों ने घेर लिया। वह कड़ी सुरक्षा में आवास के तीसरे खंड पर पहुंचे और वहीं से अपने चिर परिचित अंदाज में सीताराम और भारत हिंदू राष्ट्र के जयकारों के बीच भक्तों का अभिवादन स्वीकारने के बाद कहा कि कानपुर के लोग चाहे भक्ति हो या सनातन धर्म की बात, सभी में सबसे आगे रहते हैं।

हनुमान चालीसा की चौपाइयां सुनाकर उन्होंने भक्तों से बागेश्वर धाम पर सब कुछ छोड़ने का आह्वान किया। अगले वर्ष पहली से आठ मार्च तक बागेश्वर धाम में होने वाली कथा सुनने आने का आमंत्रण देते हुए कहा कि आपकी एकजुटता से ही हिंदू राष्ट्र का सपना साकार होगा। बाद में वह कड़ी सुरक्षा में कानपुर देहात रवाना हो गए।

‘कानपुर के पागलों कैसे हो’

बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर ने जैसे ही कहा कि कानपुर के पागलों कैसे हो, भीड़ ठहाके लगाते हुए जय श्रीराम के नारे लगाने लगी। उन्होंने कहा कि यह हमारे जीवन में पहली बार है कि तीसरी मंजिल पर खड़े होकर बोलना पड़ रहा है। सामने बिल्डिंग में खड़े लोगों से कहा कि कुछ लोग हमसे भी ऊपर खड़े हैं। ब्रेकिंग न्यूज बन जाओगे, अगर हमसे ऊपर चले जाओगे। 

हम नालायक गंवार, धर्म विरोधियों की ठठरी बांध देंगे

पं. धीरेंद्र शास्त्री ने कहा कि हम कोई भगवान नहीं हैं, नालायक गांव के गंवार आदमी हैं। तुम सभी प्रियजन हो, परिवार के सदस्य जैसे हो। तुम आए तो पर्चा के चक्कर में हो, पर हम तुमसे बड़े वाले हैं, हमने हनुमान जी की चर्चा शुरू कर दी। धर्म विरोधियों की ठठरी बांध देंगे। 

कानपुर में जल्द करेंगे कथा

कानपुर में बहुत जल्द कथा करने का बात कहते हुए पं. धीरेंद्र शास्त्री ने कहा कि पिछली बार यहां कथा होनी थी, लेकिन नहीं हो पाई। इसीलिए आज अचानक आ गया। 

हलाल प्रोडक्ट पर बैन सही निर्णय

पं. धीरेंद्र शास्त्री ने कहा कि यूपी सरकार का हलाल प्रोडक्ट पर बैन बिलकुल सही निर्णय है। इस दौरान मजाकिया अंदाज में बोले, 'आईएम वैरी वैरी नॉट सॉरी। ' 

ये भी पढ़ें- Kanpur Dehat News: बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर महंत धीरेंद्र शास्त्री पहुंचें पवन तनय आश्रम, पुलिस-प्रशासन के पुख्ता रहे इंतजाम

ताजा समाचार