Loksabha Chunav 2024: सपा ने अकेले ही BJP के खिलाफ के ताल ठोंकी, अकबरपुर लोकसभा क्षेत्र से राजाराम पाल का लड़ना लगभग तय

लोकसभा चुनाव को लेकर सपा ने अकेले ही भाजपा के खिलाफ के ताल ठोंकी।

Loksabha Chunav 2024: सपा ने अकेले ही BJP के खिलाफ के ताल ठोंकी, अकबरपुर लोकसभा क्षेत्र से राजाराम पाल का लड़ना लगभग तय

लोकसभा चुनाव को लेकर सपा ने अकेले ही भाजपा के खिलाफ के ताल ठोंकी। वहीं, अकबरपुर लोकसभा क्षेत्र से राजाराम पाल का लड़ना लगभग तय हो गया।

कानपुर, [महेश शर्मा]। संविधान बचाओ दिवस पर पीडीए (पिछड़े, दलित और अल्पसंख्यक) के अधिकारों रैली कर सपा ने यूपी में अकेले ही भाजपा के विरुद्ध ताल ठोंक दी। रैली से यह भी संकेत गया कि  सपा के महासचिव पूर्व सांसद राजाराम पाल अकबरपुर लोकसभा क्षेत्र से पार्टी के प्रत्याशी होंगे। पाल रैली के आयोजक भी थे।

कहा जा रहा है कि रैली की सफलता से राजाराम की लोकसभा चुनाव में दावेदारी पुख्ता हुयी है। कांग्रेस से लगातार बढ़ रही तल्खी के चलते इसे सपा का 'एकला चलो' चुनाव अभियान की शुरुआत माना जा रहा है। अखिलेश 'इंडिया' गठबंधन की जीत का फार्मूला पीडीए को मानते हैं। यूपी में इनकी संख्या 85 फीसदी के करीब है।

इंडिया ब्लॉक के भीतर सपा और कांग्रेस के बीच तनातनी सीट शेयरिंग में बड़ा रोड़ा है। रार मध्यप्रदेश चुनाव से उभरी जहां पर कांग्रेस ने अखिलेश को भाव नहीं दिया। वह 6 सीटें मांग रहे थे। नाराज अखिलेश ने मध्यप्रदेश में कांग्रेस के ख़िलाफ़ मुश्किलें खड़ी कर दी थीं। इधर यूपी में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय राय भी उनके खिलाफ हाई कमान की शह पर तीखे बयान देते रहे। बसपा भी अल्फा राग अलाप रही है। 

akhilesh News

ऐसे में छोटे नेताजी यानी अखिलेश ने दलितों, पिछड़े व अल्पसंख्यक वर्गों पर केंद्रित एक नए मोर्चे पीडीए की मजबूती की अपील एकबार फिर दोहराई है। सपा सुप्रीमों मानते हैं कि लोकसभा चुनाव 2024 में पीडीए की छत्रछाया के तहत छोटे दलों के गठबंधन भाजपा को लोकसभा में सरकार बनाने से रोकेगा।

देश को एक नई विचारधारा, एक नए गठजोड़ की जरूरत है। यह पीडीए से ही संभव हो सकेगा। यह काम सपा कर सकती है। छोटे नेताजी का यह भी कहना है कि आरक्षण में पीडीए के फोल्ड वाली कई जातियों की उपेक्षा की गई है।

जाजमऊ में स्वागत हुआ

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का कानपुर आगमन पर जाजमऊ जोरदार स्वागत हुआ। स्वागत करने वालों में जिला अध्यक्ष फ़ज़ल महमूद, विधायक हसन रूमी, अमिताभ वाजपेयी, बंटी सेंगर, डॉ इमरान, उदय द्विवेदी, नितेन्द्र यादव, मोहम्मद अय्यूब, अपर्णा जैन, सपा महिला सभा कानपुर ग्रामीण अर्चना रावत, शहर अध्यक्ष सुलेखा यादव, मोनिका सिंह, शैलेंद्र यादव, महेंद्र सिंह, सत्यनारायण अहिरवार, हाजी अयूब आलम, सुनील यादव, नंदलाल जायसवाल, बलवंत सिंह, इशरत इराकी,  हरीभजन यादव, रमेश यादव, फैज महमूद, विवेक सिंह चौहान, आदि लोग थे। ये सभी बाद में संविधान बचाओ दिवस पर कानपुर देहात में आयोजित पीडीए रैली में भाग लेने को रवाना हुए।

Online Jobs Apply