बनारस वालों के लिए खुशखबरी - फिर होगा काशी तमिल संगमम, दिखेगी साझी संस्कृति  

बनारस वालों के लिए खुशखबरी - फिर होगा काशी तमिल संगमम, दिखेगी साझी संस्कृति  

वाराणसी, अमृत विचार। बीते वर्ष के सफल आयोजन के बाद एक बार फिर वाराणसी में काशी तमिल संगमम का आयोजन किया जायेगा। इस आयोजन में दक्षिण और उत्तर भारत की साझी संस्कृति और विरासत के दर्शन होंगे। गौरतलब है कि पूर्व में आयोजित इस कार्यक्रम में एक महीने तक कई प्रकार के साहित्यिक, सांस्कृतिक और अन्य आयोजन किये गए थे। इसके अलावा दक्षिण भारत से आये मेहमानों ने उत्तर भारत के अयोध्या समेत पौराणिक और धार्मिक स्थलों की भी यात्रा की थी। मिली जानकारी के अनुसार आगामी 17 से 30 दिसंबर के बीच वाराणसी में काशी तमिल संगमम का आयोजन किया जायेगा। इस आयोजन का मुख्य उद्देश्य दक्षिण और उत्तर भारत की संस्कृति को समायोजित करना है। 

इस आयोजन का हिस्सा तकरीबन डेढ़ हजार से ज्यादा लोग बनेंगे। अपनी उत्तर भारत की यात्रा में दक्षिण से आये मेहमान प्रयागराज, वाराणसी और अयोध्या समेत कई शहरों की यात्रा एक विशेष ट्रेन से करेंगे। सबसे विशेष बात ये है कि यात्रा को प्रसिद्द नदियों के नाम से बने समूहों में बांटा गया है। गंगा,यमुना, गोदावरी, कृष्णा , सरस्वती जैसे नाम से समूह जाने जायेंगे। इन यात्री समूहों में छात्र, व्यापारी, साहित्यिक लेखक, सांस्कृतिक कलाकार, महिलाएं समेत कई वर्ग के लोग शिरकत करेंगे। बताया जा रहा है कि बनारस में होने वाले इस आयोजन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी सम्बोधित करेंगे। इस आयोजन को सफल बनाने के लिए यूपी के पर्यटन विभाग समेत कई मंत्रालय एक साथ मिलकर काम करेंगे।         

ये भी पढ़ें - Share Market News: कानपुर के निवेशकों ने इस माह 15,885 करोड़ कमाए… पिछले माह लगा था इतने करोड़ का झटका 

Online Jobs Apply