KGMU19th convocation : दीक्षांत समारोह में बोलीं राज्यपाल - आने वाले 15 साल में बेटियों का होगा दबदबा

KGMU19th convocation : दीक्षांत समारोह में बोलीं राज्यपाल - आने वाले 15 साल में बेटियों का होगा दबदबा

लखनऊ, अमृत विचार। किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय (केजीएमयू) का 19वां दीक्षांत समारोह रविवार को यानी आज अटल बिहारी वाजपेई साइंटिफिक कन्वेंशन सेंटर में आयोजित किया गया। दीक्षांत समारोह में उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा कि केजीएमयू के छात्र-छात्राओं को आज जो अवार्ड दिया गया है उसमें सबसे ज्यादा खुशी उनकी माता जी को हो रही होगी। इस दौरान उन्होंने उन छात्र-छात्राओं के माता-पिता और शिक्षकों का अभिनंदन भी किया।

इस अवसर पर उन्होंने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि आज भी दीक्षांत समारोह के अवसर पर सबसे ज्यादा अवार्ड बेटियों को मिले। उन्होंने कहा कि मैं कई विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में जा चुकी हूं लेकिन अब तक जितने भी दीक्षांत समारोह में मैं गई वहां सबसे ज्यादा बेटियों को ही अवार्ड मिला। उन्होंने कहा कि कोई भी विश्वविद्यालय हो हर जगह पर छात्र और छात्राएं अध्ययन करते है लेकिन जब रिजल्ट आता है तो 80 फीसदी बेटियां अच्छा प्रदर्शन करती हैं जबकि छात्र महज 20 फीसदी ही कर पाते हैं।

उन्होंने कहा कि माताओं से मैं यह कहना चाहूंगी कि आपके बेटों को आखिर क्या हो गया है। यही स्थिति रही तो 15 साल के बाद शिक्षण संस्थानों में शिक्षक के तौर पर सिर्फ बेटियां ही दिखाई पड़ेंगी। दीक्षांत समारोह में केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के सचिव प्रोफेसर अभय करंदीकर बतौर मुख्य अतिथि रहे। 

बेटियों का रहा दबदबा
रविवार को केजीएमयू स्थित अटल बिहारी वाजपई साइंटिफिक कन्वेंशन सेंटर में दीक्षांत समारोह का आयोजन सुबह 11:00 से शुरू हुआ। इस दौरान सबसे ज्यादा मैडल बेटियों को मिले। 25 से अधिक मेधावी बेटियों ने गोल्ड समेत दूसरे मेडल हासिल किए हैं। वही 13 मेडल छात्रों को दिए गए हैं। केजीएमयू में टॉप करने वाले पांच टॉपर पर में से चार बेटियां हैं। अक्षिता को हीवेट समेत 9 गोल्ड मेडल मिले हैं।

ये भी पढ़ें -मायावती का बड़ा ऐलान - आकाश आनंद को बनाया उत्तराधिकारी, बैठक के दौरान लिया गया फैसला

FOOTER:
Online Jobs Apply