Kanpur: चकेरी एयरपोर्ट पर रात में भी होगी लैंडिंग? मर्चेंट चेंबर की ओर से रक्षा सचिव को लिखा गया पत्र, अनुमति का इंतजार...

Kanpur: चकेरी एयरपोर्ट पर रात में भी होगी लैंडिंग? मर्चेंट चेंबर की ओर से रक्षा सचिव को लिखा गया पत्र, अनुमति का इंतजार...

कानपुर, अमृत विचार। चकेरी एयरपोर्ट पर जल्द ही रात में भी विमानों की लैंडिंग हो सकेगी। इसके लिए मर्चेंट चेंबर की ओर से रक्षा सचिव को पत्र लिखा गया है। पत्र में रक्षा सचिव को कुछ सुझाव भी दिए गए हैं। माना जा रहा है कि रक्षा मंत्रालय से अनुमति मिलने के बाद शहरवासियों को रात्रि लैडिंग की सुविधा मिल सकेगी। इसके अलावा छह और जगहों से शहर की फ्लाइट कनेक्टिविटी जोड़ने की मांग भी पत्र के माध्यम से की गई है। 

मर्चेंट चैंबर ऑफ़ उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष अभिषेक सिंघानिया ने हवाई यात्रा में आ रही असुविधा से राहत पहुंचाने के लिए रक्षा मंत्रालय के सचिव गिरिधर अरमाने को पत्र लिखा है। इस पत्र में कहा गया है कि एटीसी का वर्तमान परिचालन सेटअप वायु सेना की ओर से नियंत्रित किया जाता है। 

अध्ययन के बाद यह पाया गया कि कानपुर हवाई अड्डे पर एटीसी कर्मियों की एकल-शिफ्ट में ड्यूटी लगती है। यह व्यवस्था हवाई सेवाओं को बाधित करती है। इस बाधा को दूर करने के लिए सप्ताह के सभी दिनों में एटीसी कर्मचारियों की एकल शिफ्ट की जगह दोहरी-शिफ्ट कार्यप्रणाली होनी चाहिए। इससे उड़ान आवृत्ति में वृद्धि, यात्री सुविधा में वृद्धि और हवाई अड्डे के बुनियादी ढांचे के उपयोग को अनुकूलित कर सकते हैं। 

इस समाधान से क्षेत्रीय हवाई कनेक्टिविटी सेवा को बढ़ावा मिल सकेगा। एयरपोर्ट पर सुविधा बढ़ने से शहर में औद्योगिक गतिविधियों को बढ़ाए जाने के लिए जल्द ही नए क्षेत्रों जैसे हैदराबाद, पूणे, कोलकता, अहमदाबाद, बेंगलूरू, श्रीनगर जैसे स्थानों के लिए हवाई यात्रा तुरंत शुरू की जा सकेगी।

यह भी पढ़ें- RTE Admission 2024: दूसरे चरण के आवेदन हुए शुरू; पहले चरण में चूके अभिभावकों को मिला दूसरा मौका

ताजा समाचार

रियल एस्टेट में विदेशी निवेश में भारी गिरावट, जनवरी-मार्च में सिर्फ 1.1 करोड़ डॉलर आए: रिपोर्ट
Kanpur: गर्मी में ट्रेनों की लेटलतीफी से यात्री बेहाल; घंटों देरी से चल रहीं ट्रेनें, पानी की मारामारी, रेलवे अधिकारी बोले ये...
Jaunpur fire: मड़हे में लगी आग, गृहस्थी का सामान जलकर खाक
मनमानी: यहां तो 150 कोटेदारों पर भारी पड़ रहा है ठेकेदार 
Kanpur: दिव्यांग व बुजुर्गों को परेशान करेंगे ऊंचे रैंप और सीढ़ियां; चुनाव के लिए बने पोलिंग सेंटरों के सर्वे में मिली कमियां
Kanpur: ट्रक के नीचे फेंकी गई थी नवजात बच्ची...एक माह तक जिंदगी और मौत से जूझती रही, इलाज के दौरान तोड़ा दम