Kanpur: केडीए नाला ओवरफ्लो, इन गांवों में भरा सीवेज का पानी...खेती किसानी कार्य बाधित, किसानों ने की शिकायत

Kanpur: केडीए नाला ओवरफ्लो, इन गांवों में भरा सीवेज का पानी...खेती किसानी कार्य बाधित, किसानों ने की शिकायत

कानपुर, अमृत विचार। केडीए नाला ओवरफ्लो होने की वजह से चकेरी के उचटी, दीपपुर समेत पांच गांवों में 150 बीघा कृषि भूमि जलमग्न हो गई है। सीवेज का गंदा पानी भरने की वजह से किसानी का कार्य पूरी तरह से बंद हो गया। किसानों के अनुसार नाला की सफाई न होने की वजह से बरसात में समस्या और बढ़ेगी। डिसिल्टिंग (सफाई) का कार्य न होने की वजह से सीवेज ओवरफ्लो होकर खेतों में घुस रहा है। किसानों की शिकायत के बाद उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी ने नगर निगम को तत्काल नाले की सफाई करने के निर्देश दिये हैं।

सजारी सीवर ट्रीटमेंट प्लांट से संबद्ध केडीए नाला कई वर्षों से साफ नहीं हुआ है। जिसकी वजह से नाले में सिल्ट जमा हो गई है। सजारी एसटीपी के शोधित सीवेज को केडीए नाले के माध्यम से पांडु नदी में निस्तारित किया जाता है। सफाई न होने की वजह से सीवेज ओवरफ्लो होकर आस-पास के खेतों में पहुंच रहा है। क्षेत्रीय अधिकारी यूपीपीसीबी अमित मिश्रा ने बताया कि नर्वल तहसील में लगे समाधान दिवस में यह शिकायत आई है। 

जिसमें बताया गया कि नाले में गंदगी की वजह से सीवर का पानी ओवर फ्लो होकर आस-पास के गांवों में भर गया है। जिसकी वजह से यहां के किसान खेती कार्य नहीं कर पा रहे हैं। कई गांवों में इस वजह से किसान भुखमरी के शिकार हो गये हैं। अमित मिश्रा ने बताया कि इस संबंध में नगर निगम को पहले भी पत्र लिखकर कहा गया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है। एक बार फिर से अधिकारियों ने केडीए नाले की सफाई के लिये पत्र लिखा है और कहा है कि 42 एमएलडी सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट से संबद्ध केडीए नाले से हो रहे ओवरफ्लो को तत्काल रोकने के साथ ही सफाई का कार्य किया जाये।

यह भी पढ़ें- Fatehpur Accident: तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर हाईवे पर पलटी, हादसे में तीन लोगों ने तोड़ा दम

 

ताजा समाचार