देश की सुरक्षा के साथ खतरा है अग्निपथ : अजय माकन

देश की सुरक्षा के साथ खतरा है अग्निपथ : अजय माकन

लखनऊ। पूर्व केन्द्रीय मंत्री और कांग्रेस महासचिव अजय माकन ने अग्निपथ योजना को युवाओं के साथ विश्वासघात और राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खतरा बताते हुये इसे वापस लेने की मांग दोहरायी है। श्री माकन ने रविवार को यहां पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि अग्निपथ योजना अभी तक भाजपा सरकार …

लखनऊ। पूर्व केन्द्रीय मंत्री और कांग्रेस महासचिव अजय माकन ने अग्निपथ योजना को युवाओं के साथ विश्वासघात और राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खतरा बताते हुये इसे वापस लेने की मांग दोहरायी है।

श्री माकन ने रविवार को यहां पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि अग्निपथ योजना अभी तक भाजपा सरकार द्वारा बनाई गई एक और नई गलत योजना है, जो मौजूदा समस्याओं का समाधान किए बिना भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए नई समस्याएं पैदा करेगी। अग्निवीरों के लिए प्रशिक्षण की अल्प अवधि (6 महीने) का सशस्त्र बलों की गुणवत्ता, दक्षता और प्रभावशीलता पर नकारात्मक असर पड़ेगा।

व्यवहार और वेतन/लाभ के दो पैमाने निष्पक्षता के सभी मानदंडों का उल्लंघन है। यह भेदभाव सशस्त्र बलों और उनमें अनुशासन के लिए कई अप्रत्याशित और गंभीर समस्याएं पैदा करेगा। उन्होने कहा कि सेना में सबसे बड़ा एस्सेट सैनिक है, जो यूनिट के जुड़ाव के आधार पर लड़ता है और देश की रक्षा करता है। एक अनुशासित कमान में हर कुबार्नी देने वाला फौज के लिए परंपराओं का यह जुड़ाव उन्हें एक परिवार बनाता है, तथा उस मार्ग पर चलकर वह देश के लिए सर्वाेच्च कुबार्नी करने को सदैव तत्पर रहते हैं।

क्या चार साल के कॉन्ट्रैक्ट भर्ती के सैनिक इस परंपरा, परिपाटी, जुड़ाव व अनुशासन की भावना अपना पाएंगे। क्या इतने थोड़े समय में यह संभव हो पाएगा। कांग्रेस महासचिव ने कहा कि हम अग्निवीर योजना को तुरंत प्रभाव से वापस लेने की मांग करते हैं। प्रधानमंत्री युवाओं की बात क्यों नहीं सुन रहे हैं। वह चुप क्यों है। हम उनसे उनके अहंकार को त्यागने का निवेदन करते हैं।

उनके इसी अहंकार ने किसान आंदोलन के दौरान 700 किसानों की जान ली थी। देश हित में, हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा और युवाओं के भविष्य को ध्यान में रखते हुए इस इतिहास को दोहराया नहीं जाना चाहिए। श्री माकन ने कहा कि यह तुगलकी सरकार पहले फैसला करती है, और बाद में सोचती है। अग्निपथ योजना के मामले में भी अनेक बदलाव आ चुके हैं, लेकिन भारत के युवा इसे वापिस लेने की मांग कर रहे हैं। आज देश को बचाने की जरूरत है, परंतु यह सरकार पैसे बचाने में लगी है।

युवा, पूर्व सैनिक तथा रक्षा विशेषज्ञ, सभी हितधारकों ने मोदी सरकार की इस अग्निपथ योजना को नकार कर दिया है। अनेक सेवारत अधिकारियों ने निजी तौर पर इस संबंध में अपनी चिंता व्यक्त की है। उन्होने कहा कि इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर कांग्रेस पार्टी पूरे देश में आंदोलन कर रही है। पहले हमने 20 जून को जंतर-मंतर और विभिन्न राज्यों में शांतिपूर्ण सत्याग्रह हुआ था। 27 जून यानी कल सुबह 10 से 1 बजे सभी राज्यों के सभी विधानसभा क्षेत्रों में पार्टी के वरिष्ठ नेता और पदाधिकारी शांतिपूर्ण सत्याग्रह करेंगे।

पढ़ें-अग्निपथ योजना: हुड्डा ने भाजपा पर कसा तंज, कहा- सरकार ने नकलची बंदर का ले लिया है रूप

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement