बरेली: अंबेडकर की मूर्ति लगाने के मामले में परिजन पहुंचे SSP कार्यालय, FIR में छात्रों को बताया निर्दोष

बरेली: अंबेडकर की मूर्ति लगाने के मामले में परिजन पहुंचे SSP कार्यालय, FIR में  छात्रों को बताया निर्दोष

बरेली, अमृत विचार। फिलहाल में ही बिना परमिशन के अंबेडकर की मूर्ती लगाने पर पुलिस ने लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। अब उनके परिजन पुलिस पर आरोप लगा रहे हैं कि पुलिस ने निर्दोषों के खिलाफ ममला दर्ज किया है।

यह भी पढ़ें- बरेली: जामा मस्जिद दिल्ली में महिलाओं के प्रवेश पर रोक लगाना बिल्कुल जायज है- शहाबुद्दीन

बता दें, थाना सिरौली क्षेत्र के साहूकारा मोहल्ले में जाटव समुदाय के लोगों ने सार्वजनिक स्थान पर बाबा अंबेडकर साहब की बगैर परमिशन के मूर्ति लगा ली थी। जब इसकी भनक पुलिस अधिकारियों को चली तो वह मूर्ति को हटाने के लिए टीम लेकर पहुंची। जिसका वहां के लोगों ने विरोध किया था। इसके बाद मामला काफी

बढ़ गया।

पुलिस व पब्लिक के बीच जमकर पथराव हुआ। पुलिस को आसू गैस के गोले छोड़ने पडे़। इस मामले में पुलिस ने कई लोगों पर गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया। वहां रहने वाले लोगों का आरोप है कि पुलिस ने दोषियों को बचाते हुए निर्दोषों पर मुकदमा दर्ज कर लिया। जिसमें कई नाबालिग छात्र भी शामिल हैं।

इस मामले में आज कांग्रेस के पदाधिकारियों के साथ जाटव समुदाय के लोग एसएसपी से मिलने पहुंचे, लेकिन एसएसपी इस दौरान आफिस में मौजूद न होने से उनकी मुलाकात नहीं हो सकी। वह लोग शुक्रवार को फिर एसएसपी अखिलेश कुमार चौरसिया से मिलकर इसकी शिकायत कर निष्पक्ष जांच करने की मांग करेंगे। इस दौरान कांग्रेस के जिला अध्यक्ष मिर्जा अशफाक सकलैनी समेत कई कांग्रेसी व साहूकारा मोहल्ले के लोग भारी सख्या में मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- बरेली: कमिश्नर ने 300 बेड हॉस्पिटल का किया निरीक्षण, सीएमओ और कई डॉक्टर रहे मौजूद

Post Comment

Comment List