मेरठ: 44 दिन बाद जमानत पर जेल से छूटकर आई म‌हिला, दरोगा समेत तीन पुलिसकर्मियों पर लगाया गैंगरेप का आरोप

एसएसपी कार्यालय में शिकायत करने पहुंची, ब्लैकमेलिंग के आरोप में भेजा गया था जेल

मेरठ: 44 दिन बाद जमानत पर जेल से छूटकर आई म‌हिला, दरोगा समेत तीन पुलिसकर्मियों पर लगाया गैंगरेप का आरोप

मेरठ, अमृत विचार। नौचंदी थाना क्षेत्र निवासी एक महिला ने 44 दिन बाद जेल से जमानत पर छूटकर आने के बाद बृहस्पतिवार को एसएसपी ऑफिस पहुंचकर नौचंदी थाने के एक दरोगा समेत तीन पुलिसकर्मियों पर गैंगरेप का आरोप लगाया है। वहीं, एसपी सिटी ने महिला के आरोपों को गलत बताया है।

यह था मामला
महिला के अनुसार 45 दिन पहले नौचंंदी मैदान में कूड़ा बीनने वाले लोगों का प्रदर्शन चल रहा था। वह बिजली बंबा की रहने वाली है और सोशल समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्षा है। प्रदर्शन की जानकारी मिलने पर वह भी कूड़ा बीनने वाले लोगों को अपना समर्थन देने पहुंची थी। इस दौरान किसी बात को लेकर विवाद हो गया। ‌जिस पर पुलिस वहां पहुंची और उन्हें भी हिरासत में लेकर थाने ले आई। रात में उन्हें थाने पर रखा गया और अगले दिन जेल भेज दिया गया।

दरोगा समेत तीन पुलिसकर्मियों पर लगाया गैंगरेप का आरोप
44 दिन बाद जेल से जमानत पर छूटकर आई महिला बृहस्पतिवार को एसएसपी ऑफिस पहुंची। यहां, सीओ कैंट रूपाली राय लोगों की समस्याएं सुन रही थी। महिला ने शिकायती पत्र देते हुए बताया कि रात में थाने पर रखने के दौरान एक दरोगा समेत तीन पुलिसकर्मियों ने उसके साथ गैंगरेप किया। आरोप लगाया कि उसकी बेटी से उसे छोड़ने के नाम पर पैसे भी लिए गए। पीड़िता ने सीओ से न्याय की गुहार लगाई है। जिस, पर सीओ ने जांच का आश्वासन दिया है।

क्या बोले एसपी सिटी?
थाने पर सीसीटीवी कैमरे लगे हुए है। कैमनों की जांच कराई जायेगी। महिला को ब्लैकमेलिंग के मामले में जेल भेजा गया था। महिला का आरोप गलत है। महिला वादी व थाना पुलिस पर दबाव बनाना चा‌हती है।

 

Post Comment

Comment List