उन्नाव: पुलिस का दावा- जहर से नहीं हुई थी चार भाई-बहनों की मौत, उलझती जा रही मासूमों की मौत की गुत्थी, जानें मामला!

उन्नाव: पुलिस का दावा- जहर से नहीं हुई थी चार भाई-बहनों की मौत, उलझती जा रही मासूमों की मौत की गुत्थी, जानें मामला!

उन्नाव। बारासगवर थानाक्षेत्र के गांव लालमन खेड़ा में 19 नवंबर को हुई चार भाई-बहनों की मौत के बाद पुलिस द्वारा किये गए दावे के मुताबिक सभी की मौत करंट लगने से हुई थी। बाद में बच्चों के पिता का वीडियो वायरल हुआ जिसमें वह बच्चों को गला दबाकर हत्या किए जाने की बात स्वीकार करता दिखा था।

पत्नी की तहरीर पर उसे हत्या के आरोप में जेल भी भेजा गया था। रविवार को पुलिस ने दावा किया कि उसके पास बिसरा रिपोर्ट आ गई है। जिसमें जहर से बच्चों की मौत होने की पुष्टि नहीं हुई है। इसके बाद मामला एक बार फिर चर्चा में आ गया।

बता दें कि लालमनखेड़ा निवासी वीरेंद्र पुत्र स्व. द्वारिका पासवान के घर में बेटा मयंक (9), बेटी हिमांशी (8) बेटा हिमांक (6) व बेटी मांशी (4) की मौत हो गई थी। बताया गया था कि बड़ा बेटा मयंक घर में रखा फर्राटा पंखा चालू करने के लिए बोर्ड में प्लग लगा रहा था। तभी अचानक पंखे में करंट उतरने से मयंक चपेट में आकर वहीं गिर गया।

इसके बाद हिमांशी, हिमांक व मांशी भी पंखा उठाने के प्रयास एक-एक कर करंट की चपेट में आ गई थीं। 20 नवंबर को उनका पोस्टमार्टम हुआ था। जिसकी रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने बच्चों की मौत करंट से होने का दावा किया था। साथ ही चारों बच्चों का बिसरा भी सुरक्षित किया गया था।

इसके बाद मामला संदेह के घेरे में आ गया और जहर देकर बच्चों की हत्या किये जाने की चर्चा ने जोर पकड़ लिया। इसके बाद बच्चों के पिता ने भी जहरीला पदार्थ निगल लिया था। गंभीर हालात में उसे पहले सीएचसी फिर जिला अस्पताल और इसके बाद कानपुर के हैलट भेजा गया था। जहां से उसे लखनऊ में भी भर्ती कराया गया था। वहां से छुट्टी मिलने पर पिता ने एक वायरल वीडियो में खुद ही बच्चों की हत्या गला दबाकर करने की बात स्वीकार की थी।

वहीं, उसकी पत्नी शिव देवी ने पति पर अवैध संबंधों के चलते बच्चों की हत्या करने की शंका जताते हुए तहरीर दी थी। इसके बाद पुलिस ने पति को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। रविवार को उन्नाव पुलिस ने मामले पर एक सूचना जारी करते हुए बताया कि बच्चों के बिसरा की रिपोर्ट आ गई है। दावा किया गया है कि रिपोर्ट में बच्चों की जहर से मौत होने की पुष्टि नहीं हुई है। यह भी बताया कि बिसरा व पोस्टमार्टम रिपोर्ट की कापी परिजनों को दी गई है।

यह भी पढ़ें: देश में चीन की घुसपैठ जारी, सरकार साधे है चुप्पी: अखिलेश

FOOTER:

ताजा समाचार

Online Jobs Apply