सुलतानपुर: हत्या के दो दोषियों को सश्रम आजीवन कारावास की सजा, कोर्ट ने प्रत्येक दोषी पर 33 हजार रुपए अर्थदण्ड भी लगाया

सुलतानपुर: हत्या के दो दोषियों को सश्रम आजीवन कारावास की सजा, कोर्ट ने प्रत्येक दोषी पर 33 हजार रुपए अर्थदण्ड भी लगाया

सुलतानपुर, अमृत विचार। अमेठी जिले के संग्रामपुर थाना क्षेत्र के धौरहरा में आठ साल पूर्व शैलेंद्र सिंह की हत्या, जानलेवा हमला और अन्य आरोपों में न्यायाधीश एकता वर्मा ने वीरकेश्वर सिंह और प्रदीप सिंह को सश्रम आजीवन कारावास की सजा सुनाकर शुक्रवार को जेल भेज दिया है। 

एडीजीसी संदीप सिंह के मुताबिक नाली के  पानी निकासी के विवाद में 23 अप्रैल 2016 को आरोपी प्रदीप सिंह, वीरकेश्वर और सिंटू ने लाठी डंडे से हमला बोल दिया। गंभीर चोटों के कारण शैलेन्द्र सिंह की इलाज के दौरान मौत हो गई थी। शैलेन्द्र के पिता वादी राम बहादुर सिंह, मां ममता और गवाह राम बहादुर भी घायल हुए थे। मुकदमे के दौरान आरोपी सिंटू की मौत हो गई।  

दिनदहाड़े हुई घटना से गांव में दहशत फैल गई थी। न्यायालय ने  प्रदीप सिंह, वीरकेश्वर सिंह को हत्या समेत अन्य अपराधों का दोषी मानते हुए शुक्रवार को सजा के बिन्दु पर सुनवाई करते हुए सश्रम आजीवन कारावास की सजा सुनाई। कोर्ट ने दोनों दोषियों पर कुल 66 हजार रुपए अर्थदण्ड भी लगाया है।अदालत ने अर्थदण्ड की धनराशि जमा होने पर सम्पूर्ण धनराशि मृतक के परिवार को देने का आदेश भी दिया है।

यह भी पढ़ें:-रायबरेली को जागीर समझने वालों को अमेठी ने नकार दिया, ब्रजेश पाठक ने कांग्रेस पर बोला हमला