हरदोई: भूमिहीन परिवार के आत्मदाह करने की धमकी से पुलिस के छूटा पसीना, जानें मामला

परिवार का मुखिया बोतल में पेट्रोल भर कर छत पर चढ़ा

हरदोई: भूमिहीन परिवार के आत्मदाह करने की धमकी से पुलिस के छूटा पसीना, जानें मामला

माधौगंज/हरदोई, अमृत विचार। भूमिहीन परिवार ने पट्टे की ज़मीन के लिए प्रार्थना पत्र दिया, जिस पर उसे ज़मीन आवंटित तो कर दी गई, लेकिन वही ज़मीन दबंगों के कब्ज़े में होने से उसे उस पर कब्ज़ा नहीं मिल पा रहा था। उसी के लिए भूमिहीन परिवार 6 दिनों से धरने पर बैठा हुआ था।

रविवार को मुखिया बोतल में पेट्रोल ले कर छत पर चढ़ गया और आत्मदाह की धमकी देने लगा,खैर किसी तरह अफसरों ने उसे समझा-बुझा कर नीचे उतारा और थाने ले जाया गया। एसएचओ माधौगंज ध्रुव कुमार का कहना है कि मेडिकल के बाद उसे गांव के ज़िम्मेदार लोगों के सुपुर्द किया जाएगा।

बताया गया है कि गुलाब नगर मजरा डकौली निवासी अजय प्रताप सिंह व उसका परिवार पट्टे की ज़मीन का आवंटन किए जाने को लेकर पिछले 6 दिनों से धरने पर बैठा था। उसने रविवार को आत्मदाह कर लेने की धमकी दे रखी थी। अजय प्रताप सिंह सुबह बोतल में पेट्रोल लेकर आत्मदाह के लिए छत पर चढ़ गया। वहां मौजूद पुलिस प्रशासन ने उसे ऐसा न करने के  लिए काफी समझाया। उसके बाद वह नीचे उतरा और पुलिस उसे थाने लिए गई। 

अजय प्रताप का कहना है कि वह भूमिहीन है, 21 जुलाई 2023 को उसने पट्टे के लिए एसडीएम से गुहार लगाई थी। जिस पर उन्होनें उसे ज़मीन आवंटित करने के निर्देश दिए। खसरा संख्या- 130 व 619 में सरकारी ज़मीन दर्ज है। आरोप है कि कुछ दबंगों ने उस पर अवैध कब्जा कर लिया। जिसके कारण उसे पट्टे का लाभ नही मिल पा रहा है। 

सरकारी ज़मीन का लाभ न मिलने को लेकर आक्रोशित भूमिहीन परिवार घर के सामने धरने पर बैठ गया था। वहां पहुंचे तहसीलदार अमित यादव, नायब तहसीलदार देशराज भारती व लेखपाल ने परिवार को पट्टे की ज़मीन का लाभ देने के लिए समय मांगा,तहसीलदार का कहना है कि ग्राम पंचायत उसको 10 बिस्वा ज़मीन आवंटित करने का प्रस्ताव भेजा था,जबकि उसके परिवार वाले उससे अधिक ज़मीन की मांग कर रहें है। एसएचओ माधौगंज ध्रुव कुमार ने बताया कि सुरक्षा को देखते हुए  परिवार के लोगों को थाने लाया गया है। मेडिकल कराने के बाद उन्हे गांव के जिम्मेदार लोगों के सुपुर्द किया जाएगा।

यह भी पढ़ें:-ग्रामीण बिजली फीडर पर शहरी दर से बिलिंग का आदेश जनता की कमर तोड़ने की साजिश: अखिलेश यादव