बरेली कुतुबखाना पुल निर्माण: मंडलायुक्त से मिलकर व्यापारियों ने बताई समस्याएं

बरेली कुतुबखाना पुल निर्माण: मंडलायुक्त से मिलकर व्यापारियों ने बताई समस्याएं

व्यापार मंडल ने मंडलायुक्त से अनुरोध किया कि पुल का निर्माण भी जरूरी है और व्यापारियों का व्यापार भी, इसलिए प्रशासन को दो पहिया वाहनों को निकलने की छूट दी जाए।

बरेली,अमृत विचार। कुतुबखाना पुल का निर्माण तेजी से किया जा रहा है। इस दौरान वहां के रास्ते को बीस दिन बंद किए जाने से व्यापारी परेशान हैं। उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के पदाधिकारी कोतवाली से लेकर कोहाड़ापीर तक बनने वाले पुल के संबंध में शुक्रवार को मंडलायुक्त संयुक्ता समद्दर से मिले।

मंडलायुक्त को बताया कि कोतवाली से लेकर कतुबखाना तक लगभग 20 दिन तक प्रशासन पुल के निर्माण हेतु रोड बंद करने जा रहा है। प्रशासन ने पुल निर्माण से पहले व्यापारियों को यह आश्वासन दिया था कि व्यापारियों को पुल निर्माण को लेकर कोई भी परेशानी नहीं आने दी जाएगी। लेकिन, अब ऐसा लगता है कि व्यापारियों का व्यापार एक तो पुल के निर्माण से पहले ही लगभग खत्म हो चुका है और यदि प्रशासन 20 दिन के लिए रोड बंद कर देगा तो व्यापारी भुखमरी की कगार पर आ जाएगा। 

व्यापार मंडल ने मंडलायुक्त से अनुरोध किया कि पुल का निर्माण भी जरूरी है और व्यापारियों का व्यापार भी, इसलिए प्रशासन को दो पहिया वाहनों को निकलने की छूट दी जाए। जिससे ग्राहक व्यापारियों के पास आ सके और व्यापारियों का नुकसान कम से कम हो।

उसके साथ ही उन्हें बताया कि प्रशासन ने पुल निर्माण से पहले यह वादा किया था कि पुल निर्माण में केवल 100-100 मीटर का टुकड़ा ही बनाया जाएगा और उतने ही हिस्से को बंद किया जाएगा और उतने ही हिस्से के व्यापारी का केवल कुछ दिन का नुकसान होगा। लेकिन कार्यदायी संस्था ऐसा नहीं कर रही है। 

पुल के कार्य में तेजी लाने के लिए दिन और रात दो शिफ्टों में पुल का निर्माण कराया जाए, जिससे तय समय में पुल बनकर तैयार हो जाए। सेतु निगम द्वारा पुल के निर्माण में लगातार अव्यवस्था चल रही है। सड़कों पर पानी भरा है। सड़कों पर मिट्टी फेंकी हुई है। जिस कारण व्यापरियों को खासा परेशानी हो रही है।

ये भी पढ़ें : बरेली: केंद्र से भी आईटी पार्क को मिली मंजूरी, निर्माण को एमओयू की तैयारी

Post Comment

Comment List