बरेली: 10 साल से जर्जर है बिलवा की 400 मीटर सड़क, गिरकर चोटिल हो रहे ग्रामीण

गहरे गड्ढे पर बिना बरसात के ही भरा पानी, मार्ग से गुजरते हैं 10 गांव के लोग

बरेली: 10 साल से जर्जर है बिलवा की 400 मीटर सड़क, गिरकर चोटिल हो रहे ग्रामीण

बरेली, अमृत विचार सरकार सड़कों को गड्ढामुक्त करा रही है, लेकिन नैनीताल रोड पर 10 गांवों को जाने वाला मुख्य मार्ग जलभराव और गहरे गड्ढों से पटा पड़ा है। सड़क का यह हाल पिछले दिनों हुई बरसात में नहीं हुआ है। बल्कि ग्रामीण इस रास्ते से 10 वर्षों से गुजर रहे हैं और गिर भी रहे हैं।

ये भी पढ़ें- सोलर एनर्जी से जगमगाएगा बरेली, 30 हजार का मिलेगा अनुदान, ऐसे करें आवेदन

नैनीताल रोड पर बिलवा के पास अटाकायस्थान जाने वाले मार्ग की दयनीय दशा स्थानीय अफसरों के संज्ञान में तो है मगर मुख्यालय पर बैठे अधिकारी इस मार्ग को नहीं बनने देना चाहते हैं, इसलिए बार बार जा रहे इस प्रस्ताव को नामंजूर कर दिया जा रहा है।

बिलवा पुल के पहले उपनिदेशक कृषि कार्यालय के पास से जाने वाला मार्ग अटाकायस्थान, लटूरी होते हुए करमपुर ठाकुरान, रमियापुर, सुरला, कोड़मपुर आदि गांवों को जाता है। नैनीताल मार्ग से अटाकायस्थान जाने वाले इस मार्ग में प्रवेश करते ही लोगों को गहरे गड्ढे में भरे पानी से होकर गुजरना पड़ता है। इसी मार्ग पर कृषि विभाग की एपीएम प्रयोगशाला है। प्रयोगशाला जाने के लिए इसी मार्ग से होकर गुजरना पड़ता है। इसके आगे सहकारी समिति का गोदाम, प्राथमिक स्कूल और बैंक भी है।

पंचायत चुनाव का मतदान केंद्र भी बिलवा प्राथमिक स्कूल में बनता है। हर रोज सैकड़ों लोग यहां से निकलते हैं, लेकिन मार्ग बदहाल है। यहां के अंगन लाल बताते हैं कि वर्षों से यह मार्ग दयनीय स्थिति में है। गांव में जन्मे बच्चे अब दौड़ने लग गए हैं लेकिन सड़क का हाल पहले जैसा है। एक ग्रामीण ने बताया कि दिसंबर 2013 में जब उसके घर में शादी थी, उस समय यह सड़क उखड़ी थी। तब से अब तक सड़क उखड़ी ही है। जिस लड़के की शादी थी, उसका बच्चा भी बड़ा हो गया है।

घर में आई दुल्हन पिछले 10 साल में जब भी घर से बाहर निकली तब इसी गड्ढेदार सड़क से ही निकली है। सरकारें बदलती रहीं, मगर सड़क की दशा नहीं सुधरी। सूत्रों के अनुसार इस सड़क का प्रस्ताव दो बार मुख्यालय भेजा गया, लेकिन हर बार नामंजूर होकर लौट आया। लोक निर्माण विभाग के अफसरों की नजर में जर्जर सड़क बनाने और ग्रामीणों को आवागमन का सुलभ साधन मुहैया कराने की मंशा है लेकिन जब धनराशि मंजूर नहीं होगी तो सड़क कैसे बनेगी।

नैनीताल रोड-अटाकायस्थान मार्ग का 400 मीटर सीसी रोड बनाने का प्रस्ताव मुख्यालय भेजा गया है। इस मार्ग पर 25 लाख का खर्च आने का अनुमान है। मुख्यालय से प्रस्ताव मंजूर होते ही कार्य शुरू करा दिया जाएगा-नारायण सिंह, अधिशासी अभियंता, प्रांतीय खंड।

ये भी पढ़ें- बरेली: जल्द 300 बेड अस्पताल में शिफ्ट होगा एआरवी और एनसीडी सेंटर

Related Posts

Post Comment

Comment List