मेरठ: RLD विधायक मदन भैया का पुलिस ने रोका काफिला, चुनाव बाद पहली बार जा रहे थे खतौली

मेरठ: RLD विधायक मदन भैया का पुलिस ने रोका काफिला, चुनाव बाद पहली बार जा रहे थे खतौली

मेरठ, अमृत विचार। खतौली उपचुनाव के बाद पहली बार काफिला लेकर जनता के बीच जा रहे राष्ट्रीय लोकदल (रालोद) विधायक मदन भैया का काफिला पुलिस प्रशासन ने सिवाया टोल प्लाजा पर रोक दिया। काफिला आने की सूचना पर पहले से ही टोल प्लाजा पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया। हालांकि, यहां से काफिला खतौली के लिए रवाना हो गया। परंतु, खतौली थाना क्षेत्र के भंगेला में पहुंचने के बाद पुलिस ने काफिले को खतौली में नहीं घुसने दिया और मदन भैया को वापस लौटना पड़ा।

चुनाव के बाद पहली बार जा रहे थे खतौली
हाल ही में हुए उपचुनाव में खतौली विधानसभा से राष्ट्रीय लोक दल के मदन भैया ने भाजपा प्रत्याशी राजकुमारी सैनी को पराजित किया। जीत के बाद पहली बार काफिला लेकर मदन भैया अपनी विधानसभा में शनिवार को जा रहे थे। प्रशासन को सूचना मिली कि वह खतौली में रोड शो निकालने जा रहे हैं। जिसकी अनुमति नहीं दी गई। इस पर प्रशासन के आदेश पर पहले से ही सिवाया टोल प्लाजा पर भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया। जैसे, ही काफिला टोल प्लाजा पर पहुंचा तो पुलिस ने काफिले को आगे जाने से रोक दिया, जिस पर विधायक मदन भैया व कार्यकर्ताओं की पुलिस से तीखी नोकझोंक हुई। कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी की। बाद में काफिला खतौली की ओर रवाना हो गया।

खतौली में नहीं होने दी एंट्री
 मेरठ की सीमा पार करते ही काफिले को खतौली थाना क्षेत्र के भंगेला गांव में रोक दिया गया। टोल प्लाजा से काफिला निकलने के बाद मेरठ पुलिस ने मुजफ्फरनगर पुलिस को जानकारी दे दी थी। जिस, पर भंगेला गांव में भारी पुलिस बल काफिला आने की सूचना पर तैनात कर दिया गया। पुलिस बल ने काफिले को खतौली में नहीं घुसने दिया। यहां, भी कार्यकर्ताओं की पुलिस से नोकझोंक हुई। परंतु, पुलिस ने धारा 144 का हवाला देते हुए विधायक मदन भैया को खतौली में नहीं घुसने दिया।  जिसके, बाद विधायक मदन भैया को काफिले के साथ वापस लौटना पड़ा। 

विधायक क्षेत्र में नहीं जायेगा तो जनता की सेवा कौन करेगा?
पत्रकारों से रूबरू होते हुए मदन भैया ने आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें क्षेत्र की जनता ने चुना है और क्षेत्र की जनता के पास पहुंचने से उन्हें रोका जा रहा है। प्रशासन कह रहा है कि उनके क्षेत्र में जाने से कानून व्यवस्था बिगड़ेगी। उन्हें जनता ने चुना है।यदि, विधायक ही अपने क्षेत्र में नहीं जायेगा तो जनता की सेवा कौन करेगा। यह लोकतंत्र की हत्या है। सरकार अपने अधिकारों का दुरुपयोग कर रही है, जिसकी वह निंदा करते हैं।

लखनऊ से नहीं एक मंत्री के इशारे पर हो रहा काम
विधायक मदन भैया ने आरोप लगाते हुए कहा कि एक मंत्री के इशारे पर जिला प्रशासन कार्य कर रहा है। नाम ना लेते हुए उन्होंने कहा कि सब जानते हैं कि वह जनप्रतिनिधि कौन है। वह मंत्री है और केंद्र में है, उन्हें लखनऊ नहीं उसके इशारे पर रोका जा रहा है। वक्त आने पर उसका भी घमंड तोड़ दिया जायेगा। वह दोबारा शपथ ग्रहण समारोह के बाद अपने क्षेत्र में जनता के बीच आएंगे।

ये भी पढ़ें : खतौली उपचुनावः भाजपा के जाट नेताओं पर भारी पड़ी अकेले जयंत की पारी, कई नेताओं की दांव पर लगी थी साख

Post Comment

Comment List