सांसद प्रकरण : दरोगा को थप्पड़ मारने का फुटेज वायरल, दो जून की रात को मंडी चौकी में हुआ था बवाल

कन्नौज में सांसद द्वारा दरोगा को थप्पड़ मारने का फुटेज वायरल हो रहा।

सांसद प्रकरण : दरोगा को थप्पड़ मारने का फुटेज वायरल, दो जून की रात को मंडी चौकी में हुआ था बवाल

कन्नौज में सांसद द्वारा दरोगा को थप्पड़ मारने का फुटेज सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा। दो जून की रात को मंडी चौकी में बवाल हुआ था। जिसमें सांसद समेत 52 पर रिपोर्ट दर्ज है।

कन्नौज, अमृत विचार। आठ दिन बाद एक बार फिर से मंडी चौकी में पुलिस कर्मियों के साथ भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा की गई मारपीट की घटना लोगों की जुबान पर आ गई। दरअसल शनिवार को सुबह से ही एक सीसीटीवी फुटेज सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है जिसमें सांसद चौकी इंचार्ज को थप्पड़ मारते दिखाई दे रहे हैं। हालांकि वीडियो बहुत स्पष्ट नहीं है लेकिन इसको लेकर चर्चा का बाजार गर्म हो गया है। यदि यह फुटेज सही है तो निश्चित रूप से सांसद की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं।

बता दें कि दो जून की रात को अपहरण के आरोपियों को पकड़ने के साथ अपहृत को छुड़ाकर उन्नाव पुलिस चली गई। इसके बाद ही मंडी चौकी पहुंचकर भाजपाइयों ने बवाल किया और आरोपियों को छुड़ाने की कोशिश की। इस दौरान ही सांसद सुब्रत पाठक को फोन कर मंडी चौकी इंचार्ज से बात करने के लिए कहा। बताते हैं कि चौकी इंचार्ज हाकिम सिंह ने बात करने से मना कर दिया।

इससे आग बबूला हुआ सांसद रात में ही मंडी चौकी जा पहुंचे। इसके बाद आरोप है कि गरमागरमी के दौरान सांसद ने चौकी इंचार्ज पर हाथ चला दिया। गालीगलौज व मारपीट हुई। बात बढ़ी तो कई थानों की फोर्स भी बुला ली गई। घटना में तीन दरोगा सहित सात पुलिस कर्मियों ने डॉक्टरी परीक्षण कराया जिसमें चोटों की पुष्टि हुई। इसके बाद उच्चाधिकारियों के निर्देश पर सदर कोतवाली में अगले दिन सांसद समेत 10 नामजद समेत 52 लोगों पर गंभीर धाराओं में रिपोर्ट दर्ज कर ली गई।

इसके बाद से जहां आलाधिकारी ने चुप्पी साध रखी है वहीं सांसद प्रेस वार्ता, फेसबुक, ट्विटर आदि विभिन्न माध्यमों से सफाई देते नजर आ रहे हैं। एक दिन फेसबुक पर पोस्ट किया कि वे घटना वाले दिन मौके पर थे ही नहीं। मामले की जांच करा ली जाए। इसके बाद पोस्ट आई कि रात 11 बजे क्या एक बजे भी कार्यकर्ता बुलाएगा तो वे हाजिर हो जाएंगे। इसके अलावा एसपी कुंवर अनुपम सिंह तथा आईजी प्रशांत कुमार तक पर गंभीर आरोप लगा रहे हैं। उधर आलाधिकारी इस प्रकरण में चुप्पी साधे हैं।

मामले में डीएम व एसपी की संस्तुति पर कानपुर देहात एसपी के नेतृत्व में एसआईटी गठित कर जांच शुरू हो चुकी है। इस सबके बीच शनिवार की सुबह से सोशल मीडिया पर एक फुटेज वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि यह घटना वाले दिन मंडी समिति के सीसीटीवी कैमरे का फुटेज है जिसमें एक गाड़ी आकर रुकती है। इसके बाद उसमें से कुर्ता पायजामा पहने एक व्यक्ति (सांसद कहा जा रहा) उतरता है व पुलिस वालों में नोकझोंक होती है और फिर वह हाथ चला ता है। यह फुटेज अगर सही है तो सांसद के स्वयं के उन बयानों पर सवाल खड़ा होता है जिसमें वे मौके पर न जाने और किसी तरह की मारपीट न होने की बात कह चुके हैं।

यद्यपि अमृत विचार इस वीडियो के सत्य होने की पुष्टि नहीं करता है लेकिन इसने एक बार फिर से मामला सुर्खियों में ला दिया है। फिर भी यदि यह फुटेज सही है तो निश्चय ही सांसद के लिए मुश्किल बढ़ सकती है। खास यह कि इस तरह की घटनाओं को लेकर वह पहले भी चर्चा में रह चुके हैं।

यह भी पढ़ें- कन्नौज : प्रेमी के साथ मिलकर महिला ने पति की गला दबाकर की हत्या

ताजा समाचार