हरदोई मेडिकल कालेज में यूनिट इंचार्ज को इमरजेंसी में घुस कर पीटा, मनमानी रिपोर्ट का बनाया दबाव

हरदोई मेडिकल कालेज में यूनिट इंचार्ज को इमरजेंसी में घुस कर पीटा, मनमानी रिपोर्ट का बनाया दबाव

हरदोई, अमृत विचार। मेडिकल कालेज की सीटी स्कैन यूनिट इंचार्ज को इमरजेंसी में घुस कर लात-घूंसों से पीटा गया। जबरन काम करने का दबाव बनाते हुए वहां क्या हुआ उसकी सारी कहानी इमरजेंसी में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है।

बताया गया है कि मंगलवार की शाम को सीटी स्कैन यूनिट इंचार्ज अंकित रोज़ाना का काम निपटाने के बाद वहां से बाहर निकल रहे थे,उसी बीच चांद बेहटा के रहने वाले 8-10 लोग वहां पहुंचे और यूनिट इंचार्ज अंकित के ऊपर जबरन सीटी स्कैन करने का दबाव बनाया। अंकित के मुताबिक नार्मल केस था, जबकि बताया कि अभी रुक कर काम हो जाएगा। इतना सब कहने के बाद भी उन लोगों ने यूनिट इंचार्ज को दौड़ा लिया,बचने के लिए अंकित इमरजेंसी वार्ड में छिप गया, वहां पीछे से पहुंचे उन सभी लोगों ने इमरजेंसी में घुस कर अंकित की लात-घूंसों से बुरी तरह पिटाई करने लगे। इस बीच वहां तैनात गार्ड दौड़ पड़े, उन्होंने किसी तरह सीटी स्कैन यूनिट इंचार्ज को बचाया। मेडिकल कालेज के सीटी स्कैन यूनिट इंचार्ज अंकित के साथ जो कुछ भी हुआ,उसकी सारी कहानी इमरजेंसी में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई है। इस बारे में प्रिंसिपल डा.देशदीपक तिवारी का कहना है कि उन्हें ऐसे किसी मामले की फिलहाल कोई जानकारी नहीं है। मेडिकल कालेज के किसी कर्मचारी के साथ मारपीट, अभद्रता या हाथापाई करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किए जाने की सिफारिश की जाएगी।

प्रिंसिपल को क्यों किया गुमराह
सीटी स्कैन यूनिट इंचार्ज की मेडिकल कालेज की इमरजेंसी में हो रही पिटाई के बीच पहुंचे एक फार्मासिस्ट ने हमलावरों को बचाने के लिए जो चाल चली,वही नाराज़गी का सबब बनी हुई है। वहां जो हुआ,उस फार्मासिस्ट को सब पता था, लेकिन फिर भी उन्होंने न तो हमलावरों का विरोध किया और न ही इस बारे में प्रिंसिपल को कुछ बताया। फिलहाल इस मामले को ले कर मेडिकल कालेज के कर्मचारियों में काफी नाराज़गी देखी जा रही है।

ये भी पढ़ें -हरदोई में पत्नी से झगड़े के बाद पति ने किया सुसाइड

Online Jobs Apply