Cricket World Cup : ICC की वर्ल्ड कप प्लेइंग-11 घोषित, रोहित शर्मा को बनाया कप्तान...पैट कमिंस बाहर

Cricket World Cup : ICC की वर्ल्ड कप प्लेइंग-11 घोषित, रोहित शर्मा को बनाया कप्तान...पैट कमिंस बाहर

नई दिल्ली। इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) ने वर्ल्ड कप 2023 की अपनी एक प्लेइंग-11 घोषित कर दी है। करीब डेढ़ महीने चले इस टूर्नामेंट में दमदार प्रदर्शन के आधार पर आईसीसी ने अपनी प्लेइंग-11 में 6 भारतीय खिलाड़ियों को जगह दी है। हैरानी की बात है कि इसमें से चैम्पियन ऑस्ट्रेलियाई टीम के कप्तान पैट कमिंस को ही बाहर रखा गया है।

आईसीसी ने अपनी इस प्लेइंग-11 का कप्तान रोहित शर्मा को बनाया है। रोहित के अलावा बाकी पांच भारतीयों में विराट कोहली, केएल राहुल, रवींद्र जडेजा, जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी शामिल हैं। जबकि 12वें खिलाड़ी के तौर पर साउथ अफ्रीका के तेज गेंदबाज गेलार्ड कोएत्जी को रखा गया है।


भारत को रविवार को अहमदाबाद में फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ छह विकेट से हार का सामना करना पड़ा जिसने अपना छठा विश्व कप खिताब जीता। रोहित शर्मा  ने पूरे टूर्नामेंट के दौरान आक्रामक और निडर बल्लेबाजी की जिसके लिए उनकी काफी सराहना हुई। भारतीय कप्तान 11 मैच में एक शतक और तीन अर्धशतक से 54.27 के औसत से 597 रन बनाकर कोहली के बाद टूर्नामेंट के दूसरे सबसे सफल बल्लेबाज रहे। किसी एक विश्व कप में 700 से अधिक रन बनाने वाले पहले बल्लेबाज बने कोहली ने तीन शतक और छह अर्धशतक से 765 रन बनाए। 

टूर्नामेंट के दौरान कोहली सेमीफाइनल में अपने 50वें शतक के साथ महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के सबसे अधिक एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय शतक के रिकॉर्ड को तोड़ने में सफल रहे। आईसीसी की टूर्नामेंट की सर्वश्रेष्ठ टीम में आधे से अधिक भारतीय खिलाड़ियों की मौजूदगी दर्शाती है कि भारत ने भले ही खिताब नहीं जीता हो लेकिन मेजबान टीम टूर्नामेंट की सर्वश्रेष्ठ टीम थी जिसने लगातार 10 मैच जीते। विकेटकीपर बल्लेबाज और उप कप्तान लोकेश राहुल को भी टीम में जगह मिली। वह एक शतक और दो अर्धशतक की मदद से 75.33 के औसत से 542 रन बनाकर टूर्नामेंट में आठवें सबसे सफल बल्लेबाज रहे। लीग चरण के शुरुआती चार मैचों से बाहर रहने के बावजूद मोहम्मद शमी सिर्फ सात मैच में 10.70 के औसत से 24 विकेट चटकाकर सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज रहे। 

आईसीसी ने अपनी वेबसाइट पर लिखा, ‘‘पुरुष क्रिकेट के इतिहास में सिर्फ चार खिलाड़ियों ने विश्व कप में शमी के 55 विकेट से अधिक विकेट चटकाए हैं जो लसिथ मलिंगा (56), मिशेल स्टार्क (65), मुथैया मुरलीधरन (68) और ग्लेन मैकग्रा (71) हैं लेकिन शमी ने ये विकेट अपने से आगे मौजूद खिलाड़ियों से 10 कम मैचों में चटकाए हैं।’’ विश्व कप में 11 मैच में 18.65 के औसत से 20 विकेट के साथ चौथे सबसे सफल गेंदबाज रहे भारत के तेज गेंदबाजी आक्रमण के अगुआ जसप्रीत बुमराह को भी आईसीसी एकादश में जगह मिली है।

आईसीसी ने कहा, ‘‘टूर्नामेंट में एक से अधिक मैच खेलने वाला कोई भी गेंदबाज बुमराह की 4.06 की इकोनॉमी रेट से बेहतर गेंदबाजी नहीं कर पाया- यह आंकड़ा इसलिए भी बेजोड़ है क्योंकि वह काफी बार उस समय गेंदबाजी करते हैं जब क्षेत्ररक्षण की सीमाएं लागू होती हैं।’’ ऑलराउंडर के रूप में भारत के रविंद्र जडेजा और ऑस्ट्रेलिया के ग्लेन मैक्सवेल को टीम में जगह मिली है। 

आईसीसी ने कहा, ‘‘भारत के स्पिन गेंदबाजी ऑलराउंडर ने अपनी टीम के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, उन्होंने बीच के ओवरों में महत्वपूर्ण विकेट चटकाए और लगातार किफायती गेंदबाजी की।’’ विश्व कप समाप्त होने के बाद एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय प्रारूप को अलविदा कहने वाले दक्षिण अफ्रीका के क्विंटन डिकॉक को दो सलामी बल्लेबाजों में से एक के रूप में टीम में शामिल किया गया है। उन्होंने लीग चरण में शानदार प्रदर्शन करते हुए चार शतक जड़े। चौथे नंबर पर बल्लेबाजी की जिम्मेदारी न्यूजीलैंड के डेरिल मिशेल को मिली है जो भारतीय गेंदबाजों के खिलाफ दबदबा बनाने वाले एकमात्र गेंदबाज रहे। उन्होंने लीग चरण और फिर सेमीफाइनल दोनों मुकाबलों में भारत के खिलाफ शतक जड़ा। मिशेल दो शतक और इतने ही अर्धशतक से 10 मैच में 552 रन बनाकर टूर्नामेंट के पांचवें सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज रहे।

श्रीलंका का विश्व कप अभियान निराशाजनक रहा लेकिन उसके युवा गेंदबाज दिलशान मदुशंका नौ मैच में 21 विकेट के साथ टूर्नामेंट में सर्वाधिक विकेट चटकाने वाले गेंदबाजों की सूची में तीसरे स्थान पर रहे। विश्व कप के 11 मैच में 23 विकेट के साथ टूर्नामेंट के दूसरे सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज और चैंपियन ऑस्ट्रेलिया के एकमात्र विशेषज्ञ स्पिनर एडम जंपा को भी एकादश में जगह मिली है जबकि दक्षिण अफ्रीका के गेराल्ड कोएट्जी 12वें खिलाड़़ी होंगे। 

आईसीसी की टूर्नामेंट की सर्वश्रेष्ठ टीम: रोहित शर्मा (कप्तान), क्विंटन डिकॉक, विराट कोहली, डेरिल मिशेल, लोकेश राहुल, ग्लेन मैक्सवेल, रविंद्र जडेजा, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, एडम जंपा और दिलशान मदुशंका। 12वां खिलाड़ी: गेराल्ड कोएट्जी।

ये भी पढ़ें : Team India : अब युवा खिलाड़ियों के कंधों पर होगा भारतीय क्रिकेट की विरासत को आगे बढ़ाने का जिम्मा 

Online Jobs Apply