बरेली: सात महीने में 23 करोड़ की जीएसटी चोरी पकड़ी

बरेली: सात महीने में 23 करोड़ की जीएसटी चोरी पकड़ी

बरेली, अमृत विचार। राज्यकर विभाग के बरेली जोन के सचल दलों ने सात महीने में टैक्स चोरी करने वालों से करीब 23 करोड़ रुपये जमा कराए हैं। कार्रवाई की रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को भेज दी गई है।

राज्यकर विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक बरेली जोन में मोबाइल स्क्वायड और स्पेशल इंवेस्टीगेशन ब्रांच लगातार अभियान चला रही हैं। बरेली, बदायूं, पीलीभीत और शाहजहांपुर में मोबाइल स्क्वायड ने बाहर से आने वाले वाहनों की चेकिंग की। यह वाहन जो माल ढुलाई कर रहे थे, इसमें ई-वे बिल चेक करने पर पता चला कि जीएसटी चोरी कर माल ले जाया जा रहा था।

ई-वे बिल में फर्जीवाड़ा किया गया था। माल की कीमत का आकलन कर जीएसटी और जुर्माना लगाया। अधिकारियों के अनुसार सात महीने में 26,523 वाहन चेक किए जा चुके हैं। इनमें 1037 वाहन चालकों के पास प्रपत्र नहीं मिले।

इनसे 1552.20 लाख रुपये का माल जमा करने के बाद 748.57 लाख रुपये का आर्थिक दंड लगाया गया। पिछले वर्ष 21162 वाहन की जांच की गई थी, इनमें 1011 वाहन चालकों के पास मिले दस्तावेजों में कमियां मिली थीं।

एसआईबी ने बरेली में की छापेमारी
स्पेशल इंवेस्टीगेशन ब्रांच ने सात महीने में मंडल के चारों जिलों में 85 जगहों छापा मारा। इसमें 142.22 लाख रुपये का माल जब्त किया। इसके अलावा जीएसटी चोरी पर 1482.22 लाख रुपये दंड लगाया।

वहीं पिछले साल 65 जगहों पर छापा मारा गया था, जिसमें से 203.72 लाख रुपये का माल जब्त किया गया था। वहीं पूरे वर्ष में 954.46 रुपये का वसूले गए थे। बरेली में गाला गैलेक्सी, गाला क्रोकरीज, कोकाकोला, प्लाईवुड समेत कई जगह छापेमारी में करोड़ों रुपये दंड के तौर पर सरकारी खाते में जमा कराया जा चुका है।

सभी सचल दल ईकाइयों में शामिल अफसरों को निर्देश दिए हैं कि टैक्स चोरी करने वालों को चिह्नित कर सख्त कार्रवाई की जाए। इस वित्तीय वर्ष में सात महीने में रिकार्ड वसूली हुई है। -ओम प्रकाश चौबे, एडिशनल कमिश्नर, ग्रेड-1

ये भी पढ़ें- बरेली: अधिवक्ता पहुंचा एसएसपी ऑफिस, डॉक्टर के बेटे-बेटी समेत तीन पर लगाए गंभीर आरोप 

ताजा समाचार

Online Jobs Apply