भोजीपुरा अग्निकांड: घंटेभर तक कार में जलते रहे लोग, तब दमकल गाड़ियां पहुंची आग बुझाने

भोजीपुरा अग्निकांड: घंटेभर तक कार में जलते रहे लोग, तब दमकल गाड़ियां पहुंची आग बुझाने

बरेली, अमृत विचार। भोजीपुरा थाने से महज करीब 500 मीटर की दूरी पर शनिवार की देर रात रेत भरे डंपर से टकराकर हुए भीषण हादसे में कार में सवार लोग करीब एक घंटे तक जलते रहे। 

डंपर-कार में भीषण अग्निकांड की सूचना मिलने पर बरेली शहर से दमकल गाड़ी को करीब 20 किलोमीटर की दूर पहुंचने में काफी समय लग गया। इससे भी आग बुझाने में समय लगा। पहले बरेली फिर बहेड़ी की दमकल गाड़ी ने पहुंचकर करीब आधे घंटे में कार और डंपर की आग बुझाई लेकिन तब तक कार के जलने के साथ उसमें सवार सभी लोग भी राख हो गए।

प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कार देर रात करीब 10.15 बजे डिवाइडर तोड़कर दूसरी साइड में डंपर से टकराई थी। जबकि दमकल की तीन गाड़ियां आग बुझाने के लिए इसके एक घंटे बाद मौके पर पहुंची थीं। अग्निकांड में कार में सिर्फ लोहा बचा है। सब कुछ जलकर राख हो गया। इसी तरह डंपर का केबिन पूरी तरह से जल गया। उसके टायरों ने भी आग पकड़ ली थी। बाद में दमकल गाड़ी ने टायरों की आग बुझाई। डंपर कहां का है, इस बारे में कुछ पता नहीं चला। अग्निकांड में डंपर के आगे की नंबर प्लेट भी जल गई और डंपर के पीछे नंबर की कोई प्लेट नहीं लगी मिली।

कार की सिर्फ नंबर प्लेट ही सुरक्षित बची
कार अनियंत्रित होने के बाद डिवाइडर से जोरदार तरीके से टकराई थी। डिवाइडर से टकराने के दौरान कार के बोनट का हिस्सा टूटकर सड़क पर गिर गया था। उसी में नंबर प्लेट भी लगी थी। नंबर प्लेट वाला यह हिस्सा डंपर-कार के जलने वाले स्थान से करीब 25 मीटर दूर पड़ा था।

नंबर प्लेट ने ही कार मालिक तक पहुंचाया
अर्टिगा कार का नंबर यूपी-25-डीएम-1755 है। इस नंबर का हिस्सा यदि डिवाइडर से टकराकर सड़क नहीं गिरता तो शायद जल्दी कार मालिक तक पुलिस नहीं पहुंच पाती। इस नंबर प्लेट ने ही कार मालिक सुमित गुप्ता तक पुलिस को पहुंचाया। उसके बाद हताहत लोगों के बारे में पुलिस को जानकारी मिलती गई।

ये भी पढे़ं- भोजीपुरा अग्निकांड: कार की लपटों में चीखते रह गए लोग, बचाने कोई आगे नहीं आया

 

Online Jobs Apply