बरेली: ट्रेनों में भीड़ का बुरा हाल, एसी कोच में चढ़े जनरल यात्रियों को पकड़-पकड़ कर उतारा

रविवार को यूपीएससी परीक्षा और गंगा दशहरा के चलते ट्रेनों के अंदर उमड़ी भीड़

बरेली: ट्रेनों में भीड़ का बुरा हाल, एसी कोच में चढ़े जनरल यात्रियों को पकड़-पकड़ कर उतारा

बरेली, अमृत विचार। समर सीजन की भीड़ ने पहले ही रेल संचालन की कमर तोड़कर रख दी है। उस पर रविवार रेलवे के ऊपर काफी भारी रहा। दरअसल यूपीएससी परीक्षा और गंगा दशहरा के कारण ट्रेनों में काफी भीड़ रही। आलम यह था कि एसी कोचों में जनरल टिकट के यात्री ठूंस-ठूंस कर भरे हुए थे। ऐसे लोगों को पकड़-पकड़कर नीचे उतारना पड़ा। कोच के अंदर परेशान यात्री शौचालय तक में बैठकर सफर करने को मजबूर हो गए। इधर भीड़ को काबू करने के लिए पूरा दिन आरपीएफ और टिकट चेकिंग स्टाफ इधर से उधर दौड़ता रहा।

कंट्रोल रूम से मैसेज मिला था कि 15910 अवध-असम एक्सप्रेस के एसी कोच में जनरल टिकट पर सफर कर रहे यात्रियों की भीड़ जमा हो गई है। इसके बाद ट्रेन बरेली जंक्शन के प्लेटफाॅर्म नंबर एक पर आई तो आरपीएफ व टिकट चेकिंग स्टाफ मौके पर पहुंच गया। ट्रेन के एम-1 और बी-8 कोच के अंदर जाकर देखा तो बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे। इनके टिकट चैक किए गए तो पता चला कि वे सामान्य टिकट पर यात्रा कर रहे थे। इस पर एक दर्जन से अधिक सामान्य टिकट के यात्रियों को नीचे उतार दिया गया। बाद में उतारे गए यात्री किसी तरह जनरल कोच में सवार हुए। हालत यह थी कि कोच में पैर रखने के लिए भी जगह नहीं थी। इसके बाद आई 12588 गोरखपुर अमरनाथ सुपरफास्ट एक्सप्रेस में भी ऐसी ही हालत देखने को मिली। शाम को यूपीएससी की परीक्षा छूटने के बाद श्रमजीवी एक्सप्रेस, काशी विश्वनाथ एक्सप्रेस जैसी ट्रेनों के अंदर परीक्षार्थियों का हुजूम उमड़ पड़ा।

रामगंगा स्टेशन पर आरपीएफ जीआरपी रही मुस्तैद
गंगा दशहरा के चलते आरपीएफ व जीआरपी का स्टाफ मुस्तैद रहा। रामगंगा स्टेशन पर जीआरपी प्रभारी निरीक्षक अजीत प्रताप सिंह और आरपीएफ प्रभारी निरीक्षक विनीता कुमारी ने खुद मोर्चा संभाला। बड़ी संख्या में यात्रियों ने इस रूट पर पैसेंजर ट्रेनों से सफर किया। वहीं भीड़ को देखते हुए यहां रेलवे फाटक पर ट्रेनों को कॉशन पर गुजारा जाता रहा।

ट्रेन में बिगड़ी डेढ़ माह के बच्चे की तबियत
स्लीपर कोचों में यात्रियों की भीड़ और उस पर गर्मी लोगों की सेहत पर भी बुरा असर डाल रही है। रविवार को दोपहर में ट्रेन संख्या 12588 के एस-2 कोच में सफर कर रहे कठुआ से बस्ती जा रहे रवि के डेढ़ माह के बच्चे की तबियत बिगड़ गई। अचानक उसको उल्टियां होने लगीं। कंट्रोल रूम से मैसेज मिलने के बाद ट्रेन के बरेली जंक्शन पहुंचने पर रेलवे की मेडिकल टीम ने इलाज किया, जिसके बाद ट्रेन रवाना की गई।

ये भी पढे़ं- बरेली: आधी रात को निरीक्षण के लिए पहुंचे डीआरएम, जांचीं व्यवस्थायें

ताजा समाचार