अमरोहा: नहर में नहीं डूबा था अमन, दोस्तों ने हत्याकर फेंका था शव...तीन गिरफ्तार

अमरोहा: नहर में नहीं डूबा था अमन, दोस्तों ने हत्याकर फेंका था शव...तीन गिरफ्तार

मंडी धनौरा(अमरोहा), अमृत विचार। अमन की मौत रामगंगा पोषक नहर में डूबकर नहीं हुई थी, बल्कि उसके तीनों दोस्तों ने ही रुपयों के लेनदेन के विवाद में मुंह दबाकर हत्या की थी। हत्याकर शव नहर में फेंक दिया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि होने के बाद पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही उनकी निशानदेही पर अमन के चप्पल व आधार कार्ड भी बरामद किया है। हत्या की वजह पैसों  का लेनदेन बताया जा रहा है।

बता दें कि चुचैला कलां कस्बे के मोहल्ला खदाना निवासी इरशाद मंसूरी का 19 वर्षीय पुत्र अमन मंसूरी दिल्ली में स्टील पॉलिश का काम करता था। गुरुवार को वह घर आया था। शुक्रवार सुबह मोहल्ले के फैसल पुत्र रमजानी, फैजान पुत्र अब्दुल सलाम व अजीम पुत्र बबलू उसको घर से अपने साथ ले गए। इसके बाद उसका कोई पता नहीं लगने पर परिजनों ने तीनों दोस्तों से पूछताछ की थी। उन्होंने रामगंगा पोषक नहर में नहाने के दौरान उसके डूबने की झूठी कहानी रचकर परिजनों को गुमराह करने की कोशिश की थी। हालांकि परिजन पहले दिन से ही उनकी कहानी को झूठा बताते हुए अमन की हत्याकर शव फेंकने का आरोप लगा रहे थे। 

इंस्पेक्टर मनोज कुमार ने बताया कि गैर इरादतन हत्या का मुकदमा अब हत्या व साक्ष्य मिटाने की धाराओं में तरमीम कर दिया गया है। पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर नौगांवा सादात रेलवे फाटक के पास से तीनों आरोपियों को सोमवार सुबह गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने उनकी निशानदेही पर मृतक का आधार कार्ड व चप्पल नहर के पास ही झाड़ियों से बरामद कीं।
 
थाना प्रभारी निरीक्षक मनोज कुमार ने बताया कि तीनों आरोपी फैसल, फैजान व अजीम ने पैसों के लेनदेन के विवाद में अमन की हत्या की थी। मीठी ईद (ईदुल फितर) पर तीनों का अमन से पैसे के लेनदेन को लेकर विवाद हुआ था। कोतवाल ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या के मामले को हत्या व साक्ष्य मिटाने की धाराओं में दर्ज कर आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।

सांसें थमने तक दबाए रखा था मुंह
मंडी धनौरा। रविवार सुबह अमन का शव रामगंगा पोषक नहर के मोहद्दीनपुर पुल के पास मिला था। पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर शव पोस्टमार्टम को भेज दिया था। थाना प्रभारी निरीक्षक मनोज कुमार ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में सांस रुकने से हत्या करने की पुष्टि हुई है। आरोपियों ने मौत होने तक अमन का मुंह दबाकर रखा था। इसके बाद शव को राम गंगा पोषक नहर में फेंक दिया था।

ये भी पढ़ें- अमरोहा: गोवंश को जिंदा दफनाना बेहद निदंनीय- पशुधन मंत्री धर्मपाल सिंह 

ताजा समाचार

यह “कुर्सी बचाओ” बजट है.., विपक्ष ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- किसानों को छल रही सरकार
बरेली: पहाड़ों पर मौज मस्ती लिए बाइक चोरी करने का शौक...2 गिरफ्तार, सिर्फ 5 हजार में बेच देते थे बाइक
Supreme और High Court के न्यायाधीशों की सेवानिवृति उम्र बढ़ाने का कोई विचार नहीं: सरकार 
Kanpur: पांच वर्ष तक के बच्चों को निमोनिया से बचाव के लिए चलेगा 'सांस' अभियान; सौ से अधिक डॉक्टरों और स्टाफ नर्सों को मिलेगा प्रशिक्षण
Video: हरदोई में खेल प्रेमियों ने निकाली मशाल यात्रा, भारत की जीत के लिए की प्रार्थना 
काशीपुर: ट्यूशन के लिए निकले छात्र की नदी में डूबने से मौत