Subrata Roy: सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय को श्रद्धांजलि देने पहुंचे डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक 

Subrata Roy: सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय को श्रद्धांजलि देने पहुंचे डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक 

लखनऊ, अमृत विचार। सहारा इंडिया परिवार के मुखिया सुब्रत रॉय सहारा का कल मंगलवार देर रात मुंबई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल और मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट (केडीएएच) में निधन हो गया। आज बुधवार को उनका पार्थिव शरीर यूपी की राजधानी लखनऊ लाया गया।

राजधानी के सहारा शहर में उनके पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिये रखा गया है, भारी संख्या में लोग उनको नमन करने पहुंच रहे हैं। उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक सहारा शहर पहुंचे हैं। उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने पुष्प चढ़ाकर सुब्रत रॉय को श्रद्धांजलि दी है। इसके अलावा सपा के राष्ट्रीय महासचिव शिवपाल सिंह यादव भी सुब्रत रॉय को श्रद्धांजलि देने पहुंचे।

दरअसल, सहारा प्रमुख सुब्रत रॉय का निधन होने के बाद से ही शोक संवेदना व्यक्त करने वालों का तांता लगा हुआ है। आज जब उनका पार्थिव शरीर सहारा शहर पहुंचा, उसके बाद कुछ देर बाद ही उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक पहुंचे।

इसके कुछ समय बाद ही सपा के राष्ट्रीय महासचिव शिवपाल सिंह यादव ने भी सहारा शहर पहुंचकर सुब्रत रॉय को पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। बताया जा रहा है कि इस दौरान वहां पर सैकड़ों की संख्या में सहारा परिवार से जुड़े लोग भी मौजूद रहे। सहारा प्रमुख के अन्तिम दर्शनों के लिए पहुंचे लोग एक-एक कर उनको नमन कर रहे हैं। वहीं जानकारी के मुताबिक उनका अंतिम संस्कार गुरुवार को गोमतीनगर स्थित बैकुंठ धाम में किया जायेगा।

गौरतलब है कि सहारा समूह के संस्थापक रॉय लंबे समय से बीमार चल रहे थे। वह रक्तचाप और हाइपरटेंशन के अलावा कई अन्य बीमारियों से ग्रसित थे। 12 नवंबर को तबीयत बिगड़ने पर उन्हे मुबंई के कोकिलाबेन धीरूभाई अंबानी अस्पताल और मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट (केडीएएच) में भर्ती कराया गया था।

बिहार के अररिया जिले में 10 जून 1948 को जन्मे सुब्रत रॉय ने सहारा समूह की शुरुआत 1978 में गोरखपुर से की थी। माइक्रो फाइनेंस के क्षेत्र में करीब चार दशकों तक उनकी धाक रही। इस दौरान सहारा समूह का कारोबार देश विदेश में फैला। रियल एस्टेट, फाइनेंस, मीडिया, एंटरटेनमेंट, हेल्थ केयर, हॉस्पिटैलिटी, रिटेल, इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी तक में सहारा समूह की चमक फैली।

यह भी पढ़ें: पटाखा विस्फोट से झुलसे दो बच्चों की लखनऊ में हुई मौत, परिवार में कोहराम

ताजा समाचार