उन्नाव: सड़क हादसों तीन की मौत, पुरवा, आसीवन और बीघापुर थानाक्षेत्रों में हुए हादसे

उन्नाव: सड़क हादसों तीन की मौत, पुरवा, आसीवन और बीघापुर थानाक्षेत्रों में हुए हादसे

उन्नाव, अमृत विचार। उन्नाव में अलग-अलग थाना क्षेत्रों में हुए सड़क हादसों में तीन लोगों की मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने जांच के बाद शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। घटना की जानकारी पर परिजनों में कोहराम मच गया।

केस-1
कानपुर जिले के चकेरी थानाक्षेत्र के जाजमऊ गंगा विहार केडीए कालोनी निवासी कृष्ण कुमार (45) पुत्र स्व. छंगा लाल दही औद्योगिक क्षेत्र में एक चर्म फैक्ट्री की गारमेंट यूनिट में श्रमिक था। बुधवार को वह ड्यूटी के बाद बाद पुरवा कोतवाली क्षेत्र के सेमरीमऊ गांव अपनी ससुराल चला गया। गुरुवार सुबह वह ससुराल से फैक्ट्री जाने के लिए बाइक से निकला था।

पुरवा-अचलगंज मार्ग पर अचलखेड़ा चौराहा के पास  सामने आए तेज रफ्तार मिनी ट्रक ने बाइक में टक्कर मार दी। इसमें कृष्ण कुमार गंभीर घायल हो गया। राहगीरों ने इसकी सूचना ससुराल में दी। साला ओमप्रकाश उसे सीएचसी पुरवा ले गया। जहां उसे गंभीर देख डाक्टर ने जिला अस्पताल रेफर किया।

लेकिन जिला अस्पताल पहुंचने से पहले उसकी मौत हो गई। मौत की सूचना घर पहुंची तो कोहराम मच गया। दिवंगत युवक तीन भाइयों में छोटा था। उसकी मौत से पत्नी रीता व दो पुत्र रोहन व राघव का रो-रोकर बुरा हाल रहा। एसएचओ  सुरेश कुमार सिंह  ने बताया सड़क  हादसे में युवक की मौत हुई थी। शव का पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

केस-2
आसीवन थानाक्षेत्र के बाबाखेड़ा गांव निवासी नन्हा (55) पुत्र जंगली बुधवार रात दुकान पर कुछ सामान लेने गया था। इसी दौरान थानाअंतर्गत लखनऊ-बांगरमऊ रोड पार करते समय लखनऊ से आ रही बाइक ने उसे टक्कर मार दी। इसमें वह गंभीर घायल हो गया। परिजन उसे गंभीर हालत में मियागंज सीएचसी लाए। जहां से जिला अस्पताल रेफर किया गया। गुरुवार को इलाज के दौरान उसने दम तोड़ दिया। मौत की सूचना पर परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। दिवंगत अधेड़ खेती कर अपना परिवार चलाता था। उसकी मौत से पत्नी राजवती सहित तीन बेटे रो-रोकर बेहाल रहे।

केस-3  
बीघापुर कोतवाली क्षेत्र के उन्नाव-लालगंज हाईवे पर ओसिया गांव के पास सड़क हादसे में युवक की मौत हुई थी। पहचान न होने से पुलिस ने उसका शव मोर्चरी में रखवाया था। गुरुवार को सोशल मीडिया से मिली जानकारी पर भाई राजनारायण व भतीजे प्रमोद ने उसकी शिनाख्त राजकुमार (43) पुत्र बाबादीन लोधी के रूप में करते हुए बताया कि दिवंगत युवक की शादी नहीं हुई थी। वह मानसिक बीमार था।

ये भी पढ़ें -प्रतापगढ़ : हत्या के दोषी पिता पुत्र को आजीवन कारावास, लगा अर्थदण्ड

Online Jobs Apply