पीलीभीत: चार साल में ही जर्जर होने लगीं पानी की टंकियां, लाइन भी हो रही लीकेज...डायरेक्ट दी जा रही सप्लाई

पीलीभीत: चार साल में ही जर्जर होने लगीं पानी की टंकियां, लाइन भी हो रही लीकेज...डायरेक्ट दी जा रही सप्लाई

पीलीभीत, अमृत विचार। चंद साल पहले अमृत योजना से बना पानी का ओवरहैड टैंक जर्जर होने लगा है। बताते हैं कि अधोमानक ओवरहेड पानी के टैंक को हैंडओवर कर लिया गया था, जो अब मुसीबत बन रहा है। आए दिन कोई न कोई खराबी सामने आ रही है। कभी लाइन लीकेज की समस्या आ रही है, तो कभी कुछ और। 

ऐसी ही स्थिति नगरपालिका कार्यालय में बने पानी के ओवर हेड टैंक में है। जिस वजह से नगरपालिका को वहां दोबारा से उसकी मरम्मत करानी पड़ रही है। यहां से दी जाने वाली पानी की सप्लाई को भी दूसरी लाइन से शिफ्ट किया गया है।

शासन की ओर से वर्ष 2018 में  घर-घर तक पानी की सप्लाई पहुंचाने के लिए अमृत योजना 1.0 की शुरुआत की गई थी। इस योजना के तहत शहर में 12096 मकानों में पानी की सप्लाई पहुंचाई जानी थी। जिसके लिए 36.30 करोड़ का बजट दिया गया था। इसमें ओवरहैड टैंक और 69.33 किलोमीटर नई पानी की पाइप लाइन बिछाई जानी प्रस्तावित हुई थी। 

इसके अलावा ओवरहेड टैंक, पाइप लाइन और घरों में कनेक्शन होने थे, लेकिन कार्यदायी संस्थाओं ने सांठगांठ के चलते कुछ एरिया में तो नई लाइन डाल दी। शेष एरिया में पहले से बिछी हुई पुरानी लाइन से ही कनेक्शन जोड़ दिए थे। जिस वजह से पूर्व में नई लाइन में प्रेशर अधिक होने के कारण पुरानी लाइन डैमेज होने की शिकायतें लगातार सामने आई थी। 

जिससे कुछ हद तक नगरपालिका ने सुधार लिया तो अब ओवरहैंड टैंक जर्जर होने लगे हैं। नगरपालिका कार्यालय में  ओवरहेड टैंक का संचालन होने के कुछ साल बाद ही वह लीकेज होना शुरू हो गया। जगह- जगह से ओवरहेड टैंक में प्लास्टर भी टूटकर गिरना शुरु हो गया है। वहीं पानी भी लीकेज हो रहा है। 

बताते हैं कि पानी के खाली टैंक में गैस बनने लगती है। साथ ही मोटर के बाल के पास का एरिया ओपन होने का कारण मोटर में भी आए दिन खराबी आ रही है। जिसकी अब नगरपालिका की ओर से मरम्मत कराई जा रही है। बीते सप्ताह भर से इस ओवरहेड टैंक में नगरपालिका की ओर से काम कराया जा रहा है। 

वहीं कई जगह लाइन लीकेज की समस्या होने पर लोगों के घरों में गंदा पानी पहुंचने की शिकायतें भी मिल रही है। बीते दिनों देशनगर मोहल्ले में एक घर में गंदा पानी के साथ कीड़े भी निकले थे। जिस को लेकर नगरपालिका की जमकर फजीहत हुई थी। हालांकि नगरपालिका के अफसरों का दावा है कि लाइन को ठीक करा दिया गया है।

ओवरहेड टैंक की सफाई कराई जा रही है। साथ ही कुछ जगह से टूट फूट हो गई है। जिससे ठीक कराया जा रहा है। ताकि शहरवासियों को पानी की सप्लाई में दिक्कत न होने पाए। - तारिक हसन खां, जलकल प्रभारी नगरपालिका, पीलीभीत

ये भी पढे़ं- पीलीभीत: महोफ रेंज में तेंदुआ का मिला शव, पीटीआर में मचा हड़कंप, पैनल करेगा पोस्टमार्टम

 

ताजा समाचार