पीलीभीत: जीआरपी के तीन और सिपाहियों पर गिरी गाज, वायरल वीडियो में झगड़ते दिखाई देने पर किए गए लाइन हाजिर

पीलीभीत: जीआरपी के तीन और सिपाहियों पर गिरी गाज, वायरल वीडियो में झगड़ते दिखाई देने पर किए गए लाइन हाजिर

demo image

पीलीभीत,अमृत विचार। रेलवे जंक्शन पर कैपिंग कोच में खाना बना रहे रेलवे कर्मचारियों से मारपीट करने वाले जीआरपी के दो सिपाहियों को पहले ही निलंबित कर दिया गया था। 

अब वायरल हुए वीडियो में दिखाई दे रहे तीन अन्य जीआरपी सिपाहियों पर गाज गिरी है। तीनों सिपाहियों को लाइन हाजिर कर दिया गया है। इन सिपाहियों को वीडियो में मारपीट करते हुए दिखाई देने पर कार्रवाई की गई है। इसके अलावा मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच कराई जा रही है।

बता दें कि मंगलवार रात करीब साढ़े नौ बजे प्लेटफार्म नंबर एक पर खड़े कैपिंग कोच में इंजीनियरिंग विभाग के कर्मचारी अपने लिए खाना बना रहे थे। आरोप है कि तभी  जीआरपी के दो सिपाही रेलवे स्टेशन पर सादा कपड़ों में कैंपिंग कोच में आ गए। नशे की हालत में दोनों जीआरपी जवानों ने अपने लिए भी खाना बनाने की बात कही। इस पर कर्मचारियों ने इनकार कर दिया था। 

इससे गुस्साए जीआरपी के सिपाहियों ने रेलवे कर्मचारियों से मारपीट की। डंडे से उनकी दौड़ाकर पिटाई की गई। अपने अन्य साथी सिपाहियों को बुलाकर कर्मचारियों पर लाठी डंडे बरसाए थे। घटना को गंभीरता से लेते हुए सीओ जीआरपी हरिकेश यादव भी मौके पर पहुंच गए थे। एसओ जीआरपी राजबहादुर से घटना की जानकारी जुटाई। वायरल वीडियो के आधार पर सीओ जीआरपी ने सिपाही सुखवीर पटेल और संजेश यादव को निलबिंत कर दिया था। 

इसके बाद घटना के बाद वायरल हुए वीडियो को गहनता से देखा गया। जिसमें कुछ अन्य सिपाही भी झगड़ा करते दिखाई दे गए। इस पर सिपाही सबब मियां, ऋषि कुमार,अनिल कुशवाहा की पहचान होने पर उनको लाइन हाजिर कर दिया गया है। अधिकारियों का कहना था कि पुलिस फोर्स अनुशासन फोर्स है।  

अगर सिपाहियों का विवाद हुआ था तो उसे सुलझने के बजाए मारपीट क्यों की गई। सीओ हरिकेश ने इसकी जांच शुरु कर दी है। ताकि झगड़े की असल वजह सामने आ सके। फिलहाल दोनों पक्षों में सुलह होने पर पूर्व में घटना के बाद दी गई तहरीरों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

ये भी पढे़ं- पीलीभीत: वृद्धाश्रम में रह रहे बरेली के बुजुर्ग की मौत, अचानक बिगड़ी थी तबीयत

 

ताजा समाचार

अमेठी: चेयरमैन पत्नी के साथ न्यायाधीश बना पति, नगर पंचायत कार्यालय में मुकदमों की सुनवाई का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल
Kanpur: बिनगवां में केडीए ने 20 बीघा जमीन पर ध्वस्त किए कब्जे; बिना मानचित्र स्वीकृत कराए की गई थी प्लाटिंग
राम मंदिर में अब वीआईपी दर्शन बंद, रंग महल को लेकर हुआ ये बड़ा निर्णय 
Kanpur News: टूल एंड डाई तथा मैकेट्रोनिक्स में डिप्लोमा से संवार सकते भविष्य, MSME में आवेदन की ये है आखिरी डेट
हमने अपने सभी समर्थकों को निराश किया, मैं टीम की तरफ से माफी मांगता हूं : नजमुल हुसैन शांतो
Exclusive: नए नियमों का पेंच: 80 साल के बुजुर्ग के पिता का मांग रहे आधार, सात दिनों में नहीं बन सका एक भी मृत्यु प्रमाण पत्र