बाराबंकी: समुदाय विशेष के लोगों भाजपा कार्यकर्ता को पीटा, सात पर केस दर्ज-गांव में भारी पुलिस बल तैनात

बाराबंकी: समुदाय विशेष के लोगों भाजपा कार्यकर्ता को पीटा, सात पर केस दर्ज-गांव में भारी पुलिस बल तैनात

दरियाबाद/ बाराबंकी, अमृत विचार। समुदाय विशेष के लोगों द्वारा भाजपा कार्यकर्ता की पिटाई कर दी गई। जिसके बाद गांव में तनाव का माहौल व्याप्त हो गया है। कार्यकर्ता की पिटाई की खबर सुनकर  भारी संख्या में भाजपाई थाने पहुंच गए और कार्रवाई की मांग करने लगे । जिसमें पुलिस ने सात लोगों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर ग्राम प्रधान सहित अन्य लोगों को हिरासत में लिया है। माहौल को देखते हुए गांव में पुलिस तैनात कर दी गई है।

कोतवाली दरियाबाद के मियागंज ग्राम पंचायत के प्रधान वफा मोहम्मद ने पुलिस को सूचना दी कि गांव का चंदन वर्मा चोरी की नियत से छत पर चढ़ा है। पुलिस पहुंची, लेकिन वहां कोई नहीं मिला, पुलिस चंदन के घर पहुंची तो वह वहां भी नहीं था, लेकिन गांव में तनाव की स्थिति देखकर रात में ही पुलिस तैनात कर दी गई। शनिवार की सुबह गांव के भाजपा कार्यकर्ता राहुल ने प्रधान से इस प्रकरण में सुलह समझौता के लिए बात करने पहुंचे, तभी प्रधान के साथियों ने राहुल की पिटाई शुरु कर दी। राहुल का आरोप है कि लोकसभा चुनाव की रंजिश के कारण दूसरे समुदाय के लोगों ने पिटाई की है। सूचना पर थानाध्यक्ष शैलेंद्र आजाद फोर्स के साथ मियागंज पहुंचे और स्थित का जायजा लिया। इसके बाद राहुल की तहरीर पर छह नामजद समेत अन्य पर मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने इस प्रकरण में  प्रधान वफा मोहम्मद, मोहम्मद आलम, जियाउल हक, शेर मोहम्मद, ताज मोहम्मद, अब्दुल कलाम, अहमद जमा को पुलिस ने गिरफ्तार किया था व अन्य अज्ञात लोगों की तलाश कर रही है। स्थिति को देखते हुए पुलिस गांव में तैनात है। 

राहुल के  साथ हुई मारपीट की जानकारी पर आक्रोशित भाजपाई कड़ी कार्रवाई की मांग को लेकर थाने पहुंचे। सैकड़ों कार्यकर्ता वहां काफी देर जमें रहें। शनिवार की रात गांव में पुलिस तैनात रही। रविवार को गांव के हालात पूरी तरह सामान्य है। एएसपी दक्षिणी डॉॅ.अखिलेश नारायण सिंह ने बताया कि राहुल वर्मा को कुछ लोगों ने पीटा था। इसके आरोप में तीन लोगों को हिरासत में लेकर गांव में पुलिस बल तैनात किया गया है। गांव में स्थिति शांतिपूर्ण माहौल में है।

ये भी पढ़ें -डेढ़ लाख की आबादी पर न बस स्टैंड न पर्याप्त बसें, पांच किलोमीटर का लगाना पड़ता है चक्कर

ताजा समाचार