12 घंटे के भीतर इटावा में दूसरा हादसा, दिल्ली से सहरसा जा रही वैशाली ट्रेन में लगी आग, 19 यात्री झुलसे

12 घंटे के भीतर इटावा में दूसरा हादसा, दिल्ली से सहरसा जा रही वैशाली ट्रेन में लगी आग, 19 यात्री झुलसे

इटावा। यूपी के इटावा में 12 घंटे के भीतर दूसरा बड़ा ट्रेन हादसा हो गया। इटावा जिले के फ्रेंड्स कालोनी क्षेत्र में दिल्ली हावड़ा रेल मार्ग पर दिल्ली से बिहार के सहरसा जंक्शन जा रही 12554 वैशाली एक्सप्रेस ट्रेन के स्लीपर कोच में गुरुवार भोर आग लग गयी। इस हादसे भगदड़ मचने से 19 यात्री घायल हो गये।

राजकीय रेलवे पुलिस से प्राप्त जानकारी के अनुसार ट्रेन के एस-6 कोच के शौचालय में धुआं उठने से रेल यात्रियों में दहशत फैल गयी और भगदड़ मचने से करीब 19 रेल यात्रियों को चोटें आयीं। घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजा, जहां डॉक्टरों 11 यात्रियों को सांस लेने की दिक्कत के चलते सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी के लिए रिफर कर दिया जबकि आठ यात्रियों का उपचार जिला अस्पताल में किया जा रहा है। सीओ जीआरपी के मुताबिक घटना रात्रि करीब ढाई बजे की है। ट्रेन में आग बुझाने के बाद उसको गंतव्य के लिए भेज दिया गया।

राजकीय रेलवे पुलिस क्षेत्राधिकारी उदय प्रताप सिंह ने बताया कि दिल्ली से सहरसा जा रही ट्रेन की बोगी के बाथरूम अज्ञात कारणों से आग लग गई थी। फिलहाल कोई जनहानि की सूचना नही है। 19 यात्री घायल है। जिनको उपचार के लिए जिला अस्पताल और सैफई मेडिकल में भर्ती करवाया गया है। इटावा रेलवे स्टेशन पर पहुंचने से पहले कोच में आग और धुंआ उठता देख चीख पुकार मच गई और ट्रेन को समय रहते रोक लिया गया।

डॉ भीमराव अंबेडकर राजकीय संयुक्त चिकित्सालय के इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर डॉ. राघवेंद्र ने बताया कि वैशाली एक्सप्रेस ट्रेन से 19 यात्रियों को लाया गया था। जिसमें 11 यात्रियों को सांस लेने में दिक्कत आ रही थी। जिनको सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में भेज दिया गया है। आठ घायलों का इलाज जिला अस्पताल में किया जा रहा है। गौरतलब है कि बुधवार को इटावा के सराय भूपत रेलवे स्टेशन पर नई दिल्ली से दरभंगा जा रही क्लोन एक्सप्रेस की तीन बोगियों में आग लग गयी थी जिसमे एस-1 बोगी पूरी तरह जल कर खाक हो गयी थी। इस हादसे में भी सभी रेल यात्री बाल बाल बच गये थे।

रेलवे प्रशासन के अनुसार घायल यात्रियों में मुन्नाराम, निवासी सिवान,दीपक, मोहित कुमार , गोविंद,पुत्र निवासी सहरसा, राहुल कुमार निवासी अलवर राजस्थान,गुलशन निवासी,संदीप निवासी सिवान बिहार,मनीष कुमार ठाकुर,नंद कुमार ठाकुर, सिवान बिहार, दुष्यंत कुमार ,धनपति, बख्तियार पुर गोपाल गंज बिहार,असुरूद्दीन सहमऊ मधेपुरा बिहार, सरिता देवी, अगारघाट समस्तीपुर बिहार, छोटू कुमार महतोश मधुबनी बिहार,विवेक बहरिया सीवान बिहार,सच्चिदानंद प्रसाद,सिवान बिहार, श्वेता कुमारी, भोला ठाकुर बेरियापुर, मुजफ्फरपुर बिहार, लक्ष्मी,अशोक, गोंडा यूपी और अच्छे लाल बख्तियारपुर गोपालगंज बिहार शामिल हैं। 

बता दें कि इससे पहले बुधवार की शाम दिल्ली से दरभंगा जा रही ट्रेन की तीन बोगियों में आग लग गई थी। इनमें एक स्लीपर कोच और दो जनरल बोगियां शामिल थीं। गनीमत रही कि इस घटना में किसी को गंभीर चोट नहीं पहुंची। आग पर काबू पाने के बाद जली तीनों बोगियों को ट्रेन से अलग किया गया, इसके बाद अन्य कोचों में यात्रियों को बैठाकर ट्रेन को गन्तव्य के लिए रवाना किया गया।

ये भी पढ़ें- दरभंगा एक्सप्रेस: हादसे के बाद सदमे में हैं यात्री, बार-बार कर रहे ईश्वर को धन्यवाद, ट्रेन के रुकने से बची जान

FOOTER:

ताजा समाचार

Online Jobs Apply