हलाल सर्टिफिकेट कारोबार पर यूपी में रोक: योगी सरकार के फैसले की विहिप ने की तारीफ, कही बड़ी बात

हलाल सर्टिफिकेट कारोबार पर यूपी में रोक: योगी सरकार के फैसले की विहिप ने की तारीफ, कही बड़ी बात

कानपुर। विश्व हिंदू परिषद कानपुर प्रांत के अध्यक्ष राजीव महाना ने बताया कि हलाल सर्टिफिकेट के कारोबार को यूपी में प्रतिबंधित किए जाने के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का फैसला स्वागत योग्य है। लव जिहाद के विरोध में कानून बनाने की बेहतर पहल करने के बाद उन्होंने हलाल जिहाद के षड़यंत्र को रोका है। 

महाना ने मांग की है कि हलाल सर्टिफिकेट पर देश भर में प्रतिबंध लगाया जाए। महज 14 प्रतिशत मुस्लिम आबादी के लिए 86 प्रतिशत हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन आदि लोगों को उनकी इच्छा के विरुद्ध हलाल प्रमाणित उत्पाद बेचे जा रहे हैं। और तो और बाबा रामदेव के उत्पादों में भी हलाल सर्टिफिकेट का लेवल लगा मिल जाएगा। 

उन्होंने पतंजलि कंपनी के प्रमुख बाबा रामदेव से भी यह सर्टिफिकेशन न लेने का अनुरोध किया है। अमृत विचार से बातचीत करते हुए विहिप नेता महाना ने कहा कि हलाल उत्पाद और हलाल सर्टिफिकेट पर विश्व हिंदू परिषद लगातार बैठकों में इसे प्रतिबंधित करने की मांग करती रही है। 

यह मुहिम तब तक जारी रहेगी जब तक पूरे देश में प्रतिबंध न लग जाए। उनका कहना है कि मुस्लिम देशों में निर्यात किए जाने वाले उत्पादों पर उन देशों के कहने पर हलाल सर्टिफिकेट यदि दिया जाता है तो विहिप को कोई आपत्ति नहीं होगी।

घरेलू बाजार में भला इसका क्या तुक है? विहिप जल्द ही इसके खिलाफ देशव्यापी आंदोलन चलाने पर विचार कर रही है। इसकी जरूरत भी है। खाने-पीने व अन्य जरूरी वस्तुओं पर हलाल सर्टिफिकेशन किसी भी कीमत पर नहीं चलने देंगे। इसके लिए हलाल नियंत्रण मंच गठित किया गया है। पिछली सरकारों ने इसे मान्यता दी थी।

राजीव महाना कहते हैं कि अब तो जगह-जगह हलाल सर्टिफिकेट का सामान बेचा जा रहा है। उन्होंने इससे हुई कमाई का बेजा इस्तेमाल की आशंका भी जतायी है। विहिप कानपुर प्रांत अध्यक्ष ने बताया कि देश में एक दर्जन से भी ज्यादा कंपनियां हलाल सर्टिफिकेट देती हैं जो इस्लाम को मानने वालों को ऐसे उत्पादों के उपयोग की अनुमति देता है। न केवल खाने के बल्कि दवाई, कॉस्मेटिक आइटमों पर भी हलाल सर्टिफिकेट लगने लगा है। देश में चार बड़ी कंपनियां यह काम कर रही हैं। मुस्लिम देशों में हलाल सर्टिफाइड उत्पाद निर्यात की बात तो समझ मं आती है।

यह भी पढ़ें: हरदोई: जिले को मिली दो जजों की सौगात, अपर जिला जज सत्यदेव गुप्ता का हुआ तबादला

ताजा समाचार